मौत के चार घंटे बाद जिंदा हो उठी महिला, बताया क्या होता...
परिवार वालों ने महदेई के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू कर दी। (file photo)


​उत्तर प्रदेश सीतापुर जिले के ​थाना सदरपुर क्षेत्र के एक गांव में शनिवार सुबह करीव 5 बजे एक महिला म्रतक हो गयी और उसके परिजनों द्वारा पूरे रिश्तेदारी में सूचना कर दी सभी देखने वाले जमा हो चुके थे कि तभी करीव 9 बजे इस मृतका के शरीर में हलचल देखी गई। इसे देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए तभी अचानक महिला महदेई उठकर बैठ गई और कहा कि अब वह एकदम ठीक हैं। गलती से मुझे ले गए थे अब वापस भेज दिया। प्रतीकात्मक तस्वीर किसी अपने की मौत का गम परिजनों को काफी दुखी कर देता है, लेकिन मौत के बाद कोई फिर से जिंदा हो जाए यह सिर्फ  कहानियों में ही सुना जाता है। लेकिन उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में ऐसा वाकया असल में हुआ है। 

ब्लॉक पहला क्षेत्र के ग्राम त्रिलोकपुर निवासी नत्थाराम की 80 वर्षीय पत्नी माहदेई का शनिवार सुबह निधन हो गया। मौत के बाद रिश्तेदारों को खबर कर दी गई और घर पर लोगों का हुजूम जमा होने लगा। परिवार वालों ने महदेई के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू कर दी। लेकिन इस दौरान मृतक के शरीर में हलचल देखी गई। इसे देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए। तभी अचानक माहदेई उठकर बैठ गई और कहा कि अब वह एकदम ठीक हैं गलती से मुझे ले गए थे अब वापस भेज दिया। उसे बोलते देख पूरा माहौल ही बदल गया। पहले जो लोग फूट.फूटकर रो रहे थे अब खुशी और चकित होकर झूमने लगे। आस.पास के इलाके में जिसने भी यह खबर सुनी सीधे नत्थाराम के घर आ पहुंचा। कई लोग मौत के उन 4 घंटों के बारे में जानना चाहते थे और कुछ लोगों को तो इस घटना पर विश्वास ही नहीं हो रहा है। 

इन दिनों यह घटना इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। उठकर क्या बोली महिला लोगों ने उससे से पूछा कि उन्हें 5 घंटों के बारे में क्या पता है तो उन्होंने कहा कि ज्यादा याद नहीं है लेकिन जहां गया था। वहां एक बैठक चल रही थी और कुछ दाढ़ी वाले महात्मा अपने प्रमुख से बारी.बारी बातें कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस दौरान सबसे बुजुर्ग महात्मा ने उनके बारे में कई सवाल किए और पूछा कि इसे क्यों लाए हो इसे ले जाओ, अभी समय है। रामकिशन ने बताया कि इसके तुरंत बाद उन्हें एक धक्का सा लगा और जब आंखें खुली तो घर पर रोते बिलखते परिवार वालों को देखा।

अधिक जरा हटके की खबरें