दिल्ली में डीजल की कीमतें सर्वाधिक स्तर पर
पेट्रोल की कीमतें भी 70.53 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गया है।


नई दिल्ली : राजधानी में डीजल की कीमत ने नया रेकॉर्ड लेवल मंगलवार को छू लिया। क्रूड ऑयल के प्राइसेज बढ़ने के कारण पेट्रोल, एविएशन फ्यूल और केरोसिन के दामों में बढ़ोतरी भी जारी है। मंगलवार को दिल्ली में डीजल 60.66 रुपए प्रति लीटर पहुंच गई। पेट्रोल की कीमतें भी 70.53 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गया है। मई 2015 के बाद क्रूड ऑयल की कीमत अपने सर्वाधिक स्तर 68 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया है।

पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में वृद्धि के कारण पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने के लिए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान राज्य सरकारों को दोष दे रहे हैं। प्रधान ने कहा, 'डीडल-पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि के लिए पूरे तौर पर सिर्फ केंद्र सरकार जिम्मेदार नहीं है। राज्य सरकारें भी अपने स्तर पर टैक्स घटाकर इस दिशा में कदम उठा सकती हैं।' 

धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, 'पेट्रोलियम उत्पादों पर टैक्स रियायत का काम सिर्फ केंद्र सरकार का ही नहीं है। पेट्रोल और डीजल पर टैक्स का लाभ राज्य सरकारों को भी मिलता है। केंद्र ने प्रति लीटर 2 रुपए की एक्साइज ड्यूटी घटाई है। अब राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है कि वैट कम कर उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाएं।' 

दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नै में डीजल की कीमतें 3 अक्टूबर, 2017 के बाद से अधिकतम हैं। केंद्र सरकार ने उपभोक्ताओं को कुछ राहत देने के लिए डीजल और पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में 2 रुपये प्रति लीटर की कमी भी की थी। अक्टूबर में सरकार ने पेट्रोलियम कंपनियों को कुकिंग गैस के दाम में मासिक बढ़ोतरी बंद करने का भी निर्देश दिया था। यह बढ़ोतरी कुकिंग गैस पर सब्सिडी को समाप्त करने के लिए की जा रही थी। 

पेट्रोल और डीजल के दाम इंटरनेशनल रेट्स से जुड़े हैं और इनमें रोजाना बदलाव किया जाता है। कुकिंग गैस, एविएशन फ्यूल और अन्य ऑयल प्रॉडक्ट्स की कीमतों में मासिक बदलाव होता है। 

अधिक बिज़नेस की खबरें