देश के दो बड़े बैंकों को 5643 करोड़ का घाटा
यूको बैंक का शुद्ध घाटा 31 मार्च 2018 को समाप्त तिमाही में चार गुना बढ़कर 2,134.36 करोड़ रुपये हो गया.


नई दिल्ली : सार्वजनिक क्षेत्र के दो बड़े बैंकों को 5643 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. इलाहाबाद बैंक (allahabad bank) को नॉन परफारमिंग असेट (NPA) के प्रावधान में तीन गुना इजाफा करने से 31 मार्च 2018 को समाप्त तिमाही में एकल आधार पर 3,509.63 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. वित्त वर्ष 2016-17 की समान तिमाही में उसे 111.16 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था. इससे पहले दिसंबर तिमाही में भी बैंक को 1,263.79 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था.

4,259.88 करोड़ रुपये रह गई बैंक की आय
आलोच्य तिमाही के दौरान बैंक की आय 5,105.07 करोड़ रुपये से कम होकर 4,259.88 करोड़ रुपये रह गई है. वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान बैंक को 4,674.37 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है जबकि आय गिरकर 19,051.05 करोड़ रुपये पर आ गई है. इस दौरान कुल एनपीए 13.09 प्रतिशत से बढ़कर 15.96 प्रतिशत पर पहुंच गया है. हालांकि शुद्ध एनपीए में कमी आई है और 8.92 प्रतिशत से कम होकर 8.04 प्रतिशत पर आ गया है.

यूको बैंक को 2,134 करोड़ रुपये का घाटा
वहीं यूको बैंक का शुद्ध घाटा 31 मार्च 2018 को समाप्त तिमाही में चार गुना बढ़कर 2,134.36 करोड़ रुपये हो गया. वित्त वर्ष 2016-17 की समान तिमाही में उसे 588.19 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. पिछले वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में भी उसे 116.43 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. बैंक ने कहा कि आलोच्य तिमाही के दौरान उसकी आय 3,906.74 करोड़ रुपये से गिरकर 3,424.65 करोड़ रुपये पर आ गई.

वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान बैंक का घाटा 1,850.67 करोड़ रुपये से बढ़कर 4,436.37 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इस दौरान आय 18,440.29 करोड़ रुपये से कम होकर 15,141.13 करोड़ रुपये पर आ गई. बैंक ने कहा कि निदेशक मंडल ने कोई लाभांश नहीं देने की सिफारिश की है. आलोच्य तिमाही के दौरान बैंक का एनपीए 17.12 प्रतिशत से बढ़कर 24.64 प्रतिशत हो गया. शुद्ध एनपीए भी 8.94 प्रतिशत से बढ़कर 13.10 प्रतिशत पर पहुंच गया.

अधिक बिज़नेस की खबरें