मैजिकब्रिक्स ने Q1 FY’19  के दौरान दो अंको की वृद्धि दर्ज की; राजस्व में 48 फीसदी YOY की बढा़ेतरी
Company Logo


भारत की नम्बर 1 प्राॅपर्टी साईट मैजिकब्रिक्स ने Q1 FY’19 में 48 फीसदी वृद्धि का ऐलान किया है, इसके साथ कंपनी का राजस्व 47.5 करोड़ रु पर पहुंच गया है। यह कंपनी के लिए नए वित्तीय वर्ष की शानदार शुरूआत का अच्छा संकेत है। प्रोडक्ट इनोवेशन्स, नए रेवेन्यू स्ट्रीम और बाज़ार में उछाल के चलते कंपनी के राजस्व में अच्छी बढ़ोतरी हुई है। कंपनी ने पुष्टि कर दी है कि राजस्व के ये आंकड़े इसके आॅनलाईन संचालन से ही संबधित हैं। इसमें किसी भी ग्रुप कंपनी का राजस्व शामिल नहीं है।

पिछले तीन सालों के दौरान रियल एस्टेट सेक्टर की मंदी को देखते हुए यह बहुत अच्छे परिणाम हैं। संपत्ति की कीमतों में स्थिरता तथा Q4 FY’18 के दौरान घरों की बिक्री बढ़ने के कारण बाज़ार में सकारात्मक बदलाव आए हैं, जिसका फायदा अग्रणी ब्राण्ड्स को मिला है। मैजिकब्रिक्स की प्रापइन्डैक्स रिपोर्ट के अनुसार देश की 750 मुख्य लोकेशनों में से 66 फीसदी स्थानों में पिछले साल की समान तिमाही की तुलना में कीमतों में स्थिरता बनी हुई है/बढ़ोतरी हुई है।

मैजिकब्रिक्स के प्लेटफाॅर्म पर 30 जून को 1.1 मिलियन एक्टिव प्राॅपर्टीज़ थीं, हर दिन इस प्लेटफाॅर्म पर 45000 से अधिक प्राॅपर्टीज़ शामिल हो रही हैं। कंपनी अपने नज़दीकी प्रतिद्वन्द्वी से बिकने वाली प्रापर्टीज़ की दृष्टि से 30 फीसदी तथा किराए पर दी जाने वाली प्रापर्टीज़ की दृष्टि से 70 फीसदी आगे है। कंपनी ने बताया कि जून के अंत तक इसके 45000 सक्रिय पेड विक्रेता (जो भुगतान कर चुके हों) थे, इनमें 2400 डेवलपर्स, 14000 ब्रोकर्स और शेष 29000 व्यक्तिगत विक्रेता शामिल थे। नए प्रोडक्टस जैसे सेर्टिफाईड एजेन्ट प्रोग्राम, रीमार्केटिंग समाधानों और ई-नीलामी प्लेटफाॅर्म की कामयाबी के चलते मैजिकब्रिक्स आज उपभोक्ताओं, डेवपलर्स एवं ब्रोकर्स का पसंदीदा चैनल बन गया है।
राजस्व में अग्रणी स्थिति के अलावा, मैजिकब्रिक्स टैªफिक एवं पंजीकृत उपयोगकर्ताओं की दृष्टि से भी सबसे आगे है। इसके प्लेटफाॅर्म पर प्राॅपर्टी की सर्च में 50 फीसदी बढ़ोतरी हुई है, जिसमें बैंगलोर और दिल्ली में यह आंकड़ा क्रमशः 60 फीसदी और 65 फीसदी हे। 

कंपनी ने बताया कि इसने तिमाही के दौरान 60 मिलियन रन रेट और 2.5 मिलियन पंजीकृत उपभोक्ताओं का आंकड़ा हासिल कर लिया है, जिसमें से 800,000 उपभोक्ताओं ने घर की खरीद के लिए 1.2 मिलियन उपभोक्ताओं ने किराए के लिए तथा 2,00,000 उपभोक्ताओं ने काॅमर्शियल प्राॅपर्टी के लिए पंजीकरण किया है। शेष उपभोक्ताओं ने अन्य प्रकारों में पंजीकरण किया है।

तिमाही के शानदार परफोर्मेन्स पर बात करते हुए सुधीर पाई सीईओ,, मैजिकब्रिक्स ने कहा, ‘‘हम बाज़ार में अपना विस्तार कर अपनी मौजूदगी को सशक्त बना रहे हैं। बाज़ार के 60 फीसदी खरीददार और 80 फीसदी आपूर्ति आज हमसे जुड़ी है। मैजिकब्रिक्स पर सूचीबद्ध 45 फीसदी सम्पत्ति के मालिक सिर्फ हमारे साथ जुड़े हैं। पैमाना बढ़ाने के अलावा हम आधुनिक सेवाओं पर भी ध्यान दे रहे हैं, ताकि खरीददारों और विक्रेताओं को हमारे प्लेटफाॅर्म के माध्यम से लेनदेन के लिए हर ज़रूरी जानकारी मिल सके।’’

उन्होंने कहा कि ने थ्री हारिज़न स्टैªटेजी बनाई है, जिसके माध्यम से कंपनी विकास एवं मुनाफे पर विशेष रूप से ध्यान दे रही है। ‘‘हमारी थ्री हाॅरिज़न स्ट्रैटेजी हमें बाज़ार के अवसरों का लाभ उठाने के लिए तैयार करती है। इसके तहत सबसे पहले हम अपना पैमाना बढ़ा रहे हैं, ताकि मैजिकब्रिक्स खरीददारों और विक्रेताओं के लिए सबसे पसंदीदा पोर्टल बन जाए। दूसरा हम मैजिकब्रिक्स को एक डिस्कवरी प्लेटफाॅर्म के बजाए फुल स्टैक सोल्यूशन के रूप में स्थापित करना चाहते हैं। तीसरा हम ऐसे आधुनिक उत्पाद और सेवाएं उपलब्ध कराना चाहते हैं जो पूरे सिस्टम में सुधार ला सकें।

 श्री पाई नेकहा अगली तिमाही के लिए मैजिकब्रिक्स ने उत्पादों, कन्टेन्ट और विपणन पहलों की एक श्रृंखला की योजना तैयार की है। ‘‘हमने दूसरी तिमाही के लिए विशेष तैयारियां की हैं, जिसके तहत हम कारोबारों एवं उपभोक्ताओं के लिए उद्योग जगत के नए इनोवेशन्स लेकर आएंगे। हम उपभोक्ताओं की गोपनीयता की समस्याओं को हल करने के लिए चैैट आधारित कम्युनिकेशन इंटंरफेसेस; एक ब्रा्राण्ड स्टोरेर; एमबी टीवी लाॅन्च कर रहे हैं। इसके अलावा चुनिदंा परियोजनाओं के लिए एक्सक्लुज़िव डील्स भी लेकर आएंगे, जो
केवल हमारे आॅनलाईन बिडिंग प्लेटफाॅर्म के ज़रिए ही उपलब्ध होंगी।’’ 

श्री पाई ने कहा ये सभी इनोवेशन्स उद्योग जगत में पहली बार पेश किए जाएंगे। रेरा लागू होने के बाद ब्राण्ड स्टोर का लाॅन्च मध्यम एवं छोटे डेवलपर्स के साथ-साथ उपभोक्ताओं के लिए भी बेहद फायदेमंद होगा। 

मैजिकब्रिक्स टीवी उपयोगकर्ताओं के लिए रियल एस्टेट को सुगम एवं आसान बनाएगा। यह रियल एस्टेट पर कन्टेन्ट उपलब्ध कराएगा, जिससे उपभोक्ता आसानी से कोई भी फैसला ले सकेंगे। इसी तरह मैजिकब्रिक्स का ई-नीलामी प्लेटफाॅर्म निष्पक्ष और पारदर्शी कीमतों के साथ अनूठा अनुभव प्रदान करता है। ई-आॅक्शन प्लेटफाॅर्म पीएनबी हाउसिंग, एसबीआई और ओरिएंटल बैंक की साझेदारी में डेवलपर्स की एक्सक्लुज़िव परियोजनाएं पेश करता है।

‘‘प्राथमिक बाज़ार का आकार अपनी सर्वोच्च सीमा पर 350,000 युनिट्स सालाना था जो कम होकर 200,000 युनिट्स पर पहुंच गया। इस वित्तीय वर्ष में कई बाज़ारों में बिक्री बढ़ी और 300,000 से अधिक युनिट्स बेची गईं। जिन लोकेशनों में कीमतों में गिरावट आ रही थी, वहां इस तरह के रूझान जारी रहे। अब 750 में से 66 फीसदी लोकेशनों में कीमतों में स्थिरता बनी हुई है/बढ़ोतरी हुई है। समय के साथ हमें उम्मीद है कि बाज़ार 1 मिलियन युनिट सालाना के आंकड़े पर पहुंच जाएगा, जो हमारे जैसे देश के लिए ज़रूरी भी है।  


अधिक बिज़नेस की खबरें