सिर्फ 100 रुपये में शुरू करें पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम, मिलेगा बचत खाते से ज्यादा मुनाफा
File Photo


छोटी बचत योजनाओं में लोगों को नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट बहुत ज्यादा पसंद आता है. इसमें ज्यादा ब्याज के साथ-साथ टैक्स छूट भी मिलती है. साथ ही, 1 अक्‍टूबर से 5 साल की एनएससी पर ब्‍याज दर 7.6 से बढ़ाकर 8 फीसदी कर दी गई है. आपको बता दें कि फिलहाल इतना ब्‍याज देश का कोई भी बड़ा बैंक नहीं दे रहा है. ऐसे में आपके लिए एनएससी में पैसा लगाना ज्यादा फायदेमंद हो सकता है. आइए जानें इसके बारे में..

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स 

ब्याज दर: 8 फीसदी
अवधि    : 5 साल

100 रुपये में खुलता है खाता: पोस्ट ऑफिस के एनएससी स्कीम के तहत निवेश की कुल अवधि 5 साल की है. इंडिया पोस्ट के अनुसार इस स्कीम के तहत खाता कम से कम 100 रुपये से खुलता है. वहीं, इसमें निवेश की अधिकतम लिमिट तय नहीं है.  

कहां खुलेगा खाता: एनएससी के तहत खाता देशभर में पोस्ट ऑफ‍िस के ब्रांच में खोला जा सकता है.

कौन कर सकता है निवेश: कोई भी व्यक्ति इसमें नि‍वेश कर सकता है. आप अपने बच्‍चों के नाम पर भी इसे खरीद सकते हैं. इन सर्टिफि‍केट की मैच्‍योरि‍टी अवधि 5 साल होती है. ब्‍याज हर साल जुड़ता है और कपांउड इंटरेटस्‍ट की ताकत से ये पैसा लगातार बढ़ता जाता है. 

यहां ध्‍यान रखने वाली बात ये है कि टैक्‍स पर छूट केवल 1.5 लाख तक के नि‍वेश पर ही मि‍लती है. इस योजना की सबसे बड़ी खासि‍यत ये है कि‍ ये योजना सरकारी है. यानी एक तो आपका पैसा पूरी तरह से सुरक्षि‍त है और दूसरा ये कि‍ सरकार ने जि‍तना कहा है उतना रि‍टर्न आपको मि‍लेगा. इसके अलावा आपको बहुत भागदौड़ नहीं करनी.

कहां से खरीदें सर्टिफिकेट: नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट एक लंबी अवधि के निवेश का माध्यम है. इसके जरिए एक निश्चित ब्याज दर पर निवेशक को रिटर्न मिलता रहता है. खास बात ये है कि इसे भारत सरकार की डाकघर योजना के तहत जारी किया जाता है. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट आप अपने नजदीकी डाकघर से खरीद सकते हैं.

नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट खरीदना एक सरल प्रक्रिया है, इसे आप किसी भी पोस्ट ऑफिस से खरीद सकते हैं. हां ये ध्यान रखें कि आपको नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट खरीदने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज अपने साथ रखने होंगे. फॉर्म के जरिए अपनी जानकारी देनी होगी, जिसमें आपको नाम और निवेश की राशि के बारे में बताना होगा. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट खरीदने के लिए आपको सपोर्टिंग दस्तावेज की जरूरत पड़ सकती है. आप नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट चेक या फिर कैश के जरिए खरीद सकते हैं. इसमें चेक से भुगतान करने पर खाता तभी खुलेगा जब चेक का भुगतान सफल हो जाएगा.

कब निकाल सकते हैं पैसा: इसकी मेच्योरिटी 5 साल की है. अच्छी बात ये है कि अगर आप कुछ शर्तों को पूरा करते हैं तो 1 साल की मेच्योरिटी अवधि के बाद खाते की राशि को निकाल सकते हैं. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट में ब्याज दर हर 3 महीने में बदली या निर्धारित की जाती हैं. इसलिए निवेशक को घटते बढ़ते ब्याज दरों के साथ निवेश की राशि में भी बदलाव करना चाहिए.

खास बातें: इस योजना का लाभ 18 साल से कम उम्र के लोगों को भी मिल सकता है यानी कि इस योजना से नाबालिगों को भी लाभ मिलेगा. इसके लिए उनके अभिभावकों को अपने 18 साल से कम उम्र के बच्चों के नाम पर नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट खरीदना होगा. इसमें दो वयस्क ज्वाइंट स्कीम के जरिए भी निवेश कर सकते हैं. वहीं NRI (अप्रवासी भारतीय) और हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (HUF) को इस स्कीम का लाभ नहीं मिल सकता है. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट आप एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर कर सकते हैं. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट के प्रमाण पत्र को आप किसी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हस्तांतरित तक सकते हैं.

टैक्स छूट के साथ मिलेंगे ये फायदें: सबसे अच्छी बात ये है कि नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट में आपको टैक्स सेविंग का विकल्प मिलता है. आयकर अधिनियम 80C के तहत आपको टैक्स में छूट का लाभ मिलता है. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट में निवेश करने पर आपका टीडीएस नहीं कटता है. इसमें आप समय से पहले धनराशि निकाल सकते हैं पर उसके लिए आपको पेनाल्टी देनी होगी. एनएससी यानr नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर बैंक और फाइनेंशियल संस्थानों से लोन लिया जा सकता है. इसके अलावा नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट में चेकबुक की सुविधा भी मिलती है.


अधिक बिज़नेस की खबरें