पोस्ट ऑफिस की इन स्कीम में मिल रहा 8.5% तक का मुनाफा, उठा सकते हैं फायदा
File Photo


देश में पोस्ट ऑफिस कई तरह की सेविंग स्कीम चलाता है. मौजूदा समय में पोस्ट ऑफिस करीब 8 तरह की बचत योजनाएं चला रहा है. पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट ( indiapost.gov.in) पर दी गई जानकारी के मुताबिक इन सभी स्कीम में 8.5 फीसदी तक का मुनाफा मिल रहा है. आइए जानें इसके बारे में...

ये हैं पोस्ट ऑफिस की स्कीम- डाकघर की बचत योजनाओं में (1) आवर्ती जमा,  (2) सावधि जमा, (3) डाकघर मासिक आय योजना, (4) वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, (5) 15 वर्षीय सार्वजनिक भविष्य निधि खाता, (6) राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र, (7) किसान विकस पत्र (केवीपी), और (8) सुकन्या समृद्धि खाता शामिल हैं. इनमें  8.5 फीसदी की दर तक ब्याज मिलता है.

(1) डाकघर आवर्ती जमा (आरडी): डाकघर आवर्ती जमा में 10 रुपये प्रति माह से निवेश किया जा सकता है. इस खाते में जमा राशि पर 7.3 फीसद की दर से ब्याज मिलता है. वहीं इस बचत योजना में एक साल के बाद 50 फीसद रकम निकालने की भी सुविधा उपलब्ध होती है.

(2) मंथली इनकम स्कीम (एमआईएस): इस खाते को कोई भी व्यक्ति खुलवा सकता है. इस खाते में जमा राशि पर 7.3 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है. इस खाते को ट्रांसफर भी करवाया जा सकता है.

(3) किसान विकास पत्र (केवीपी): इस खाते में जमा रुपये को ढाई साल बाद निकाला जा सकता है, इस पर 7.7 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलता है. इसमें निवेश की गई राशि 118 महीने (9 साल और 10 महीने) बाद दोगुनी हो जाती है.

(4) 15 वर्षीय पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ): इस खाते को 100 रुपये में खोला जा सकता है. इसमें एक वित्त वर्ष में अधिकतम एक लाख रुपए तक के निवेश पर कर छूट का लाभ मिलता है. इसमें जमा राशि पर 8 फीसदी का ब्याज मिलता है. खाताधारकों को इस खाते में पूरे वित्त वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये एवं अधिकतम 1.50 लाख जमा करवाने होते हैं. खाते का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल का है. इसमें आप ज्वाइंट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं.

(5) नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट योजना में सालाना 8 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. 100 रुपये और इससे ज्यादा का एनएससी ले सकते हैं.

(6) सुकन्या समृद्धि खाता: इस खाते में एक वित्त वर्ष के दौरान न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1,50,000 रुपयों का निवेश करना होता है. यह खाता लड़की के पैदा होने के अगले 10 वर्षों के भीतर खुलवाया जा सकता है. इस खाते में 8.5 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है. लड़की के 21 साल पूरे होने पर यह खाता बंद हो जाता है.

अधिक बिज़नेस की खबरें