टैक्स चुराया तो तुरंत आयकर विभाग को अलर्ट करेगा नया सॉफ्टवेयर!
File Photo


नई दिल्ली, केंद्र सरकार टैक्स चोरी पकड़ने के लिए इनकम टैक्स और जीएसटी रिटर्न को मिलाने की तैयारी में है.  जानकारी के अनुसार इसके लिए एक खास सॉफ्टवेयर तैयार किया जा रहा है. इसके जरिये अब जीएसटी रिटर्न और इनकम टैक्स रिटर्न का मिलान किया जाएगा. इसके लिए खास सॉफ्टवेयर बन रहा है, जिसमें रिटर्न नहीं मिलने पर सिस्टम खुद अलर्ट करेगा. सॉफ्टवेयर तैयार नहीं होने तक चुनिंदा मामलों की निगरानी की जा रही है. शुरुआत में सिर्फ बड़े मामलों पर ही नजर रहेगी, आगे चलकर ई-वे बिल को भी इसमें शामिल किया जा सकता है.

इनकम टैक्स चोरी कानून- टैक्स एक्सपर्ट हिमांशु कुमार का कहना है कि फॉर्म 16 में अपने निवेश की जानकारी देनी होती है. अगर आपका टीडीएस में मिसमैच होता है तो इनकम टैक्स विभाग नोटिस भेज सकता है. जरूरत पड़ने पर इनकम टैक्स विभाग आपसे दस्तावेज मांग सकता है.

जीएसटी चोरी- जीएसटी के तहत दो तरीके से टैक्स चोरी हो रही है. कई लोग फर्जी बिल के जरिए इनपुट टैक्स क्रेडिट ले रहे हैं. इसके अलावा, कारोबार को कम करके बताया जा रहा है. इसका मतलब है कि प्रॉडक्ट की खरीददारी और बिक्री बगैर बिल के हो रही है.

अधिक बिज़नेस की खबरें