भारत में बिजनेस करना हुआ और आसान, ईज ऑफ डूइंग रैकिंग में 77वें नंबर पर पहुंचा देश
File Photo


वर्ल्ड बैंक आज ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रेटिंग जारी कर दी है. भारत की रैंकिंग में जबरदस्त उछाल आया है. भारत की 100 नंबर से चढ़कर अब 77वें पायदान पर पहुंच गया है. पिछले साल भारत इस सूची में टॉप 100 में आ गया था. भारत को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की सूची में 100वां स्थान मिला था. इस सूची में इस साल जीएसटी और इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड जैसे सुधारों का फायदा सरकार को मिल सकता है. पिछले साल भारत ने इस रैंकिंग में बड़ी छलांग लगाई थी.

आपको बता दें कि वर्ल्ड बैंक हर साल आसान कारोबार वाले देशों की सूची जारी करता है इसमें कुल 190 देश होते हैं. मोदी सरकार का सपना इस सूची में भारत को टॉप 50 में लाने का है. इस बार रैंकिंग में भारत का स्थान बहुत महत्वपूर्ण होगा.

रेटिंग की बड़ी बातें
>> विश्व बैंक द्वारा जारी इज ऑफ डूइंग बिज़नेस रैंकिंग में भारत की रैंकिंग 77 वें पायदान पर पहुंचा
>> पिछले साल 2017 के मुकाबले 2018 में भारत की रैंकिंग में 23 स्थान का सुधार
>> 190 देशों की रैंकिंग में भारत 77 वें स्थान पर
>> पिछले 2 साल में 53 रैंक और 2014-18 में 65 रैंक का सुधार
>> पिछले साल भी 30 पायदान ऊपर आया था भारत की रैंकिंग
>> 10 मापदंडों में से 6 मापदंडों में भारत की स्थिति में सुधार देखा गया
>> कंस्ट्रक्शन परमिट,सीमाओं में व्यापार,व्यवसाय की शुरुआत, क्रेडिट लेने,बिजली लेने जैसे 6 मापदंडों में बड़ा सुधार
>> विश्व बैंक ने माना है कि व्यवसाय करने के मामले में भारत सुधार करने वाले शीर्ष देशों में शामिल
>> ब्रिक्स और दक्षिण एशियाई देशों में भारत टॉप इम्प्रूवर
>> 2014 में भारत दक्षिण एशियाई देशो में भारत की स्थिति 6वें  स्थान पर था आज पहले पायदान पर पहुंच गया है.

किस आधार पर तय होती है रिपोर्ट-भारत ने 2003 से अब तक 37 बड़े सुधार लागू किए हैं. पिछले साल इस रिपोर्ट में दिल्ली और मुंबई को शामिल किया गया था. रिपोर्ट में किसी कारोबार को शुरू करना, कंस्ट्रक्शन परमिट, क्रेडिट मिलना, छोटे निवेशकों की सुरक्षा, टैक्स देना, विदेशों में ट्रेड, कॉन्ट्रैक्ट लागू करना और दिवालिया शोधन प्रक्रिया को आधार बनाया जाता है.

अधिक बिज़नेस की खबरें