एक से ज्यादा PPF अकाउंट खुलवाने पर फंस सकते हैं आप, बचने का है ये तरीका
File Photo


पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) निवेश का अच्छा जरिया है. इसकी मुख्य वजह- इसमें निवेश की गई रकम पर टैक्स छूट, मैच्योरिटी पर टैक्स-फ्री रिटर्न और सरकार का हाथ होना. मौजूदा समय में इस वक्त PPF पर सालाना ब्याज दर 8 फीसदी है. PPF अकाउंट्स से जुड़े नियम कड़े हैं. अगर आपने एक से ज्यादा पीपीएफ अकाउंट खुलवा लिए हैं तो आप मुश्किल में फंस सकते हैं. आइए जानते हैं इस स्थिति से निपटने का क्या है तरीका...

एक ही PPF अकाउंट खोलने का नियम- 15 साल मैच्योरिटी पीरियड वाले इस अकाउंट को किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जा सकता है. लेकिन कोई भी व्यक्ति अपने नाम पर केवल एक PPF अकाउंट ही खुलवा सकता है. फिर चाहे बैंक में खुलवाए या पोस्ट ऑफिस में.

अगर एक से ज्यादा हो गए PPF अकाउंट- PPF के नियमों के मुताबिक एक व्यक्ति के नाम से एक ही अकाउंट होना चाहिए. अगर गलती से दो अकाउंट खोल लिए गए हों तो दूसरे अकाउंट को वैध अकाउंट नहीं माना जाएगा और जब तक दोनों अकाउंट को मिला नहीं दिया जाता, तब तक ब्याज भी नहीं मिलेगा. नाबालिग के नाम पर PPF अकाउंट उसके माता या पिता ही खोल सकते हैं. दोनों अभिभावक एक ही नाबालिग के लिए अलग-अलग अकाउंट नहीं खोल सकते.

ये है तरीका- इस मामले में अकाउंट मिलाने के लिए लिखित अर्जी वित्त मंत्रालय को देनी होगी. इस एप्लीकेशन में दोनों PPF अकाउंट की सारी डिटेल्स का खुलासा करना होगा. इस एप्लीकेशन को पोस्ट ऑफिस के जरिए पहुंचाना होगा. अगर दोनों अकाउंट मर्ज होने के बाद पूरे साल के दौरान किया गया टोटल कॉन्ट्रीब्यूशन 1.5 लाख रुपये की मैक्सिसम लिमिट को क्रॉस कर जाता है तो अतिरिक्त अमाउंट को बिना ब्याज के साथ अकाउंट होल्डर को रिफंड कर दिया जाएगा.

अधिक बिज़नेस की खबरें