टैग:pakistan#,jammukashmeer#,newdelhi#,onion-tomato
व्यापार बंद करने से पाक को ही होगा नुकसान, प्याज-टमाटर तक के लिए है भारत पर निर्भर
पाकिस्तान से भारत का आयात 92 फीसदी पहले ही हो गया है कम


नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने और राज्य के पुनर्गठन से बौखलाए पाकिस्तान ने भारत से कारोबार को निलंबित करने का निर्णय लिया है। विरोध जताने के लिए भले ही यह कदम उठाया है, लेकिन इसका खामियाजा उसे ही भुगताना पड़ेगा,  क्योंकि पाकिस्तान रोजमर्रा   की चिजों के लिए भारत पर ज्यादा निर्भर है।  


दरअसल पाकिस्तान प्याज और टमाटर जैसी खाद्य वस्तुओं के अलावा केमिकल्स के लिए भारत पर ही निर्भर है। यदि ट्रेडर्स और एक्सपर्ट्स की माने तो इससे पाकिस्तान को ही झटका लगेगा। फेडरेशन ऑफ इंडिया एक्सपोर्ट ऑर्गेनाइजेशन (एफआईईओ) के अध्यक्ष शरद कुमार सर्राफ अनुसार द्विपक्षीय कारोबार को निलंबित करने से भारत की बजाय पाकिस्तान को अधिक प्रभावित करेगा, क्योंकि उसकी निर्भरता हमारे ऊपर ज्यादा है। 

बता दें कि पाकिस्तान की ओर से भारत के मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएफएन) का दर्जा नहीं दिया गया था, जिसकी वजह से सीमित सामानों का ही निर्यात भारत कर पाता था, जबकि भारत ने पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान से यह दर्जा वापस ले लिया था। ऐसे में पाकिस्तान के लिए यह फैसला नुकसानदायक साबित हो सकत है। गौरतलब है कि पाकिस्तान तमाम कृषि उत्पादों खासकर टमाटर और प्याज तक  के लिए भारत पर निर्भर रहता है। 

पाकिस्तान से भारत का आयात 92 फीसदी पहले ही हो गया है कम 
बात दें कि इसी साल 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही भारत और पाक के बीच बीच कारोबार निचले स्तर पर थे। भारत ने इस हमले के बाद पाकिस्तान से आने वाली चीजों पर 200 फीसदी कस्टम ड्यूटी कर दी थी। इतना ही नहीं उससे एमएफएन का दर्जा भी वापस ले लिया था, जिससे कॉमर्स मिनिस्ट्री के डेटा के अनुसार पाकिस्तान से होने वाले आयात में 92 फीसदी की गिरावट आई थी। वहीं, इस साल मार्च में महज 2.84 मिलियन डॉलर ही कारोबार दोनों देशों के बीच में रह गया था, जबकि मार्च 2018 में यह 34.61 अमेरिकी डॉलर था। गौरतलब है कि पाकिस्तान से कपास, सीमेंट, फल, पेट्रोलियम प्रॉडक्ट्स का आयात भारत करता है। 


अधिक बिज़नेस की खबरें