आधार कार्ड के बिना नहीं हो पाएगी रेल टिकट बुकिंग
वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान नए मॉडल्स से डिलिवरी सिस्टम अपग्रेड किया जाएगा और 7 से ज्यादा हिमसागर ट्रेन लॉन्च होंगी।


नई दिल्ली : रेलवे टिकट बुकिंग में होने वाली धोखाधड़ी और बल्क टिकट बुकिंग पर अंकुश लगाने के लिए रेलवे जल्द ही आधार कार्ड आधारित ऑनलाइन टिकट बुकिंग सिस्टम लाने वाला है। इस सिस्टम के आने के बाद बिना आधार कार्ड नंबर के ऑनलाइन टिकट बुकिंग नहीं हो पाएगी।

इससे पहले रेलवे बोर्ड ने ट्रेनों में वरिष्ठ नागरिकों को किराए में छूट लेने के लिए आधार कार्ड जरूरी करने की घोषणा की थी। 1 अप्रैल से बिना आधार कार्ड सीनियर सिटिजंस को किराए में छूट नहीं मिलेगी, हालांकि 31 मार्च तक यह सुविधा वैकल्पिक है।

रेल मंत्री सुरेश प्रभु द्वारा गुरुवार को 2017-18 के लिए पेश किए गए रेलवे के नए बिजनस प्लान के मुताबिक, आधार कार्ड आधारित टिकटिंग सिस्टम के अलावा कैशलेस टिकटिंग सिस्टम को बढ़ावा देने के लिए देश भर में 6000 पॉइंट ऑफ सेल मशीनें और 1000 ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीनें इंस्टॉल की जाएंगी। साथ ही रेलवे कैशलेश ट्रांजैक्शन्स को बढ़ावा देने के लिए एक टिकटिंग ऐप भी लॉन्च करेगा।

रेल विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, 'आईआरसीटीसी की टिकटिंग साइट पर वन टाइम रजिस्ट्रेशन के लिए आधार नंबर जरूरी होगा। इस कदम का उद्देश्य फर्जी पहचान के साथ टिकट बुकिंग करने वाले टिकट दलालों को रोकना है।' नए प्लान के मुताबिक, रेलवे की इस साल भारत-बांग्लादेश फ्रेट ट्रेन लॉन्च करने की योजना भी है। वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान नए मॉडल्स से डिलिवरी सिस्टम अपग्रेड किया जाएगा और 7 से ज्यादा हिमसागर ट्रेन लॉन्च होंगी।

अधिक बिज़नेस की खबरें