नोटबंदी के दौरान 18 लाख बैंक खातों में गड़बड़झाला, एक-एक को नोटिस भेजने की तैयारी
वित्त मंत्री ने बताया कि ऐसे खाताधारकों को कानूनी नोटिस भेजा जाएगा।


नई दिल्ली : वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को बताया कि नोटबंदी के बाद ऐसे 18 लाख खातों का पता चला है जिनमें जमा राशि खाताधारकों की इनकम के सोर्स से मेल नहीं खाती है। उन्होंने साथ ही कहा कि ऐसे खातों पर सरकार की कड़ी नजर है और जल्द ही उन पर कार्रवाई संभव है।

वित्त मंत्री ने बताया कि ऐसे खाताधारकों को कानूनी नोटिस भेजा जाएगा। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान जेटली ने बताया कि नोटबंदी के बाद निष्क्रिय पड़े खातों या जनधन योजना के तहत खोले गए खातों के दुरुपयोग के संबंध में सरकार जांच कर रही है। इसके लिए विशेषज्ञों की भी मदद ली जा रही है।

उन्होंने सदस्यों के सवालों के जवाब में बताया कि नोटबंदी के बाद खातों में बड़ी धनराशि जमा कराने वालों पर सरकार की पैनी नजर है। इन लोगों से प्रारंभिक जानकारी मांगी गई थी और काफी लोगों ने जानकारी दी है। जेटली ने बताया कि जिन्होंने ब्यौरा उपलब्ध नहीं कराया है उनके बारे में जांच के बाद यदि यह पाया जाता है कि इनके खातों में जमा राशि उनके आय के स्रोतों से मेल नहीं खाती है तो उन्हें कानूनी नोटिस भेजे जाएंगे।



अधिक बिज़नेस की खबरें