मकर संक्रांति के दिन कभी न करें ये काम
मकर संक्रांति के दिन कभी न करें ये काम


भारत में मकर संक्रांति का व‍िशेष महत्‍व है, जिसे हर साल जनवरी महीने में धूमधाम से मनाया जाता है। इस द‍िन पृथ्‍वी का उत्तरी गोलार्द्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है।परंपराओं की माने तो इस द‍िन सूर्य मकर राश‍ि में प्रवेश करता है। देश के विभिन्न राज्यों में इस पर्वर को अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। बताया जाता है कि आम तौर पर शुक्र का उदय भी लगभग इसी समय होता है इसलिए यहां से शुभ कार्यों की शुरुआत होती है। जहां इस दिन शुभ कार्यों की शुरूआत होती है, वहीं मकर संक्रांति में कुछ कार्यों को करने से मना किया गया है। आज हम आपको कुछ कार्यों के बारे में बताएंगे, जिन्हे मकर संक्रांति के दिन बिल्कुल न करें। 


1. सुबह स्नान न करना 
बहुत से लोग इस दिन सुबह उठते ही चाय के साथ स्नैक्स खाना शुरू कर देते है लेकिन इस स्नान किए बिना भोजन न खाएं। 

2. बाल ना धोएं 
इस दिन महिलाएं बाल न धोएं कयोंकि इस दिन बालों को धोना शुभ नहीं माना जाता। इसके अलावा इस दिन पुण्यकाल में दांत भी मांजने चाहिए। 

3. पेड़ की कटाई-छंटाई
मकर संक्रांति के दिन घर के अंदर या बाहर पेड़ की कटाई-छंटाई बिल्कुल न करें। इसे शुभ नहीं माना जाता है। 

4. किसी प्रकार का नशा न करें 
मकर संक्रांति के दिन शराब, सिगरेट, गुटका आदि जैसे सेवन से बचना चाहिए। इसके अलावा इस दिन मसालेदार चीजों के सेवन से बचना चाहिए। 

5. अन्न का सेवन 
अगर मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव की कृपा पाना चाहते है तो इस दिन संध्या काल के समय केवल अन्न का ही सेवन करें। 

6. दान भी है जरूरी 
इस पर्व पर अगर कोई भी भिखारी, साधु या बुजुर्ग आए तो उसे खाली हाथ ना लौटाने के बजाए दान दें। इस दिन दान देना शुभ होता है। 

7. इन चीजों से करें परहेज
इस दिन खाने में कुछ सावधनियां भी रखे जैसे भूलकर भी इस दिन लहसुन, प्याज और मांस का सेवन न करें। 

8. अपनी वाणी मधूर रखें
मकर संक्रांति के दिन गुस्सा करने और किसी को बुरा बोलने से बचें। इस दिन सिर्फ मधुरता का व्यवहार करें।

अधिक धर्म कर्म की खबरें