टैग:#Religion
सावन 2018: आज है सावन का पहला सोमवार, जानें क्यों ख़ास है ये दिन
File Photo


देवो के देव महादेव कहे जाने वाले भगवान शिव का प्रिय महीना सावन शुरू हो चुका है. पूरे महीने शिवालयों में भक्तों का सैलाब रहता है. इस महीने में सोमवार के व्रत का खास महत्तव है. माना जाता है इससे जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ती है. मान्यता है विवाहित औरतों को इस महीने में सोमवार व्रत रखने पर सौभाग्य वरदान मिलता है. इस महीने के पहले सोमवार से 16 सोमवार व्रत की शुरुआत भी की जाती है. इस महीने में मंगलवार का व्रत भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती के लिए किया जाता है. इसे मंगला गौरी व्रत कहा जाता है.

इस साल सावन के महीने में 4 सोमवार हैं. इन तिथियों में भगवान शंकर की पूजा-अर्चना करना धार्मिक दृष्टि से बहुत फलदायी माना गया है.  सावन में पड़ने वाले अलग-अलग सोमवार की क्या विशेषताएं हैं.

पहला सोमवार- सावन का पहला सोमवार हर दृष्टि से श्रद्धालुओं के लिए विशेष है. इस साल सावन का पहला सोमवार एक साथ दो शुभ योग लेकर आया है. इसमें भगवान शिव की पूजा-आराधना से श्रद्धालुओं को बाधा से मुक्ति मिलती है, योजनाओं को पूरा करने में सफलता प्राप्त होती है.

दूसरा सोमवार- सावन मास के दूसरे सोमवार का भी विशेष महत्व है. इस साल सावन मास का दूसरा सोमवार 06 अगस्त 2018 को है. इस दिन भगवान शिव की पूजा-आराधना करने वाले बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त होगा.

तीसरा सोमवार- भगवान शंकर की पूजा-अर्चना करने वालों के लिए सावन मास का तीसरा सोमवार उनके कठिन कार्यों का निष्पादन करने वाला होगा. सावन का तीसरा सोमवार 13 अगस्त 2018 को है. यह साधना और भक्ति के लिए सबसे उत्तम माना गया है. श्रद्धालु इस दिन भगवान शिव के मंत्रों का जाप करके मंत्र सिद्धि प्राप्त कर सकते हैं.

चौथा सोमवार- सावन मास का चौथा और अंतिम सोमवार श्रद्धालुओं के आर्थिक कष्टों का निवारण करने वाला है. सावन के चौथा सोमवार का 20 अगस्त 2018 को है. इस दिन भगवान शंकर की आराधना करने से आपको शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी. वहीं, कार्यक्षेत्र और जीवन के दूसरे क्षेत्रों में आने वाली बाधाओं का भी निवारण हो जाएगा.

अधिक धर्म कर्म की खबरें