इस शुभ मुहूर्त पर ही करें होलिका दहन
होलिका दहन का मुहूर्त किसी त्यौहार के मुहूर्त से ज्यादा महवपूर्ण


होलिका दहन का मुहूर्त किसी त्यौहार के मुहूर्त से ज्यादा महवपूर्ण और आवश्यक है। यदि किसी अन्य त्यौहार की पूजा उपयुक्त समय पर न की जाये तो मात्र पूजा के लाभ से वंचित होना पड़ेगा परन्तु होलिका दहन की पूजा अगर समय पर न हो पाये तो यह पीड़ा देती है। ज्योतिषाचार्य पुष्पित पाराशर बता रहे हैं होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और इसके लाभ।

होली के मुहूर्त का है खास महत्व
रंगवाली होली जिसे धुलण्डी के नाम से भी जाना जाता है। होलिका दहन के पश्चात ही मनायी जाती है और इसी दिन को होली खेलने के लिये मुख्य दिन माना जाता है। घर में सुख-शांति, समृद्धि, संतान प्राप्ति आदि के लिये महिलाएं इस दिन होली की पूजा करती हैं।

ये है शुभमुहूर्त
होलिका दहन के लिये लगभग एक महीने पहले से तैयारियां शुरु कर दी जाती हैं। कांटेदार झाड़ियों या लकड़ियों को इकट्ठा किया जाता है फिर होली वाले दिन शुभ मुहूर्त में होलिका का दहन किया जाता है। होलिका दहन का शुभ मुहूर्त- 12.03.2017 को रात्रि 06.38 से रात्रि 08.20 तक रहेगा।

अधिक धर्म कर्म की खबरें

बुधवार 21 फरवरी का राशिफल..

ताजगीपूर्ण सुबह से दिन का आरंभ करेंगे। घर में मित्रों और सगे-सम्बंधियों के आवागमन से खुशीयाली का ......