नीरजा में काम कर चुके एक्टर प्रशांत गुप्ता ने अपनी गायिकी से फिर जीवंत किया बैजू बावरा का मशहूर गीत
प्रशांत द्वारा इस गाने को चुनने के पीछे की जो मुख्य वजह रही वो ये कि ये गाना आज भी उतना ही सामायिक है।


नीरजा इसक और आइडेंटिटी कार्ड जैसी फिल्मों में अपने अभिनय से सबको प्रभावित करनेवाले अभिनेता प्रशांत गुप्ता अब 1952 में रिलीज हुई फिल्म बैजू बावरा के क्लासिक गीत को जल्द ही दोबारा आवाज देंगे और अपनी मधुर गायिकी से इसे एक नये अंदाज में सबके सामने पेश करेंगे।

प्रश्न नामक इस कवर एलबम के जरिये प्रशांत दुनिया को ये बताने की कोशिश करेंगे कि किस तरह से कुछ शास्त्रबद्ध गाने आज भी वैश्विक मुद्दों और मानवीय पीड़ा से तारतम्य रखते हैं। मोहम्मद रफी द्वारे गाये श्ओ दुनिया के रखवालेश् वो पहला गाना हैए जिसे प्रशांत ने अपनी इस नई पहल के तौर पर गाया है और इसपर परफॊर्म किया है। इस कालजयी गाने को संगीतबद्ध किया था नौशाद ने और इसे लिखा था शकील बदायूंनी ने। 

प्रशांत द्वारा इस गाने को चुनने के पीछे की जो मुख्य वजह रही वो ये कि ये गाना आज भी उतना ही सामायिक है। इसके अलावा इस गाने में जुड़ा वो ईश्वरीय तत्व का होना भी मुख्य वजह जिसके जरिये अवाम और दुनिया की मदद की गुहार लगाने के लिए इसे जाना जाता है।

इस गाने की गिनती ना सिर्फ सबसे मशहूर क्लासिक गीतों में से एक के तौर पर होती हैए बल्कि इसे श्रद्धांजलि के तौर पर फिर से गाना भी एक बेहद कठिन काम है। प्रशांत कहते हैंए ष्यह एक गीत आत्मीय तरीके से उन सभी को एक स्वर प्रदान करने की कोशिश हैए जो ईश्वर को अपनी नाउम्मीदीए उदासीए संघर्षए अकेलेपनए अवसादए दिल टूटने जैसे परेशानियों के लिए याद करते हैं।


अधिक मनोरंजन की खबरें