तीज के मौके पर सावन के रंग में रंगी दिखी लखनऊ की महिलाएं, गायन से लेकर मेहंदी तक में हुई जबरदस्त टक्कर
Teez Utsav


लखनऊ, महीना सावन का हो और त्योहार तीज का.. तो महिलाओं का आनदकारी होना तो लाजमी ही है। जी हां ! कुछ ऐसी ही तस्वीर थी सामाजिक संस्था लीलावती गंगा प्रसाद मेमोरियल सोसाइटी द्वारा रेस्टोरेंट बेबियन में आयोजित तीज उत्सव पार्टी की। सोसाइटी की संयोजिका कविता शुक्ला के कुशल संयोजन में शुरू हुए तीज उत्सव में  25 से 70 साल तक की महिलाओं ने गीत, नृत्य, मेहंदी जैसी प्रतियोगिता में शामिल होकर कार्यक्रम में चार चांद लगा दिया। 


ग्रुप ए, ग्रुप बी और ग्रुप सी में बंटी महिलाओं ने अपने- अपने ग्रुप की प्रतियोगियों को जबरदस्त टक्कर दी। ग्रुप में महिलाओं का निर्धारण उनकी उम्र के हिसाब से किया गया। ग्रुप ए में जहां 25 से 40 साल की महिलाएं शामिल थी वही ग्रुप बी में 40 से 50 और ग्रुप सी में 50 से 70 साल की उम्र की महिलाओं को शामिल किया गया। 



कार्यक्रम की शुरुआत गणेश वंदना से हुई। तत्पश्चात नृत्य नाटिका प्रस्तुत हुई जिसका शीर्षक था 'मेरे और मेरे पिया घर आए'। इस नृत्य नाटिका में पत्नियों द्वारा अपने फौजी पतियों के इंतजार का बहुत मार्मिक पर बेहद खूबसूत दृश्य दर्शाया गया। तत्पश्चात डांस, सिंगिंग, मेहंदी तथा तीज क्वीन प्रतियोगिता के मौजूद प्रतिभागियों में जबरदस्त टक्कर हुई।

गायन प्रतियोगिता की शुरुआत सुनीता श्रीवास्तव की मधुर आवाज़ से हुई। सुनीता ने 'ये गलियां ये चौबारा यहां आना ना दोबारा' गीत गाकर माहौल को बेहद रोमांचकारी बना दिया तत्पश्चात अंकिता श्रीवास्तव ने 'ससुराल गेंदा फूल', आकांक्षा शुक्ला ने 'चने के खेत में रितु ने 'घूमर घूमर' तथा सीमा ने 'कजरी झूला धीरे से झुलाऊं' गाने पर अपनी शानदार प्रस्तुति दी। 

कर्यक्रम के अंत मे निर्णायक मंडल सुरभि और अपर्णा मिश्रा द्वारा अपना निर्णय सुनाया गया है। सबसे पहले तीज क्वीन का निर्णय सुनाया गया जिसमें ग्रुप ए से कुसुम, ग्रुप बी से सीमा, ग्रुप सी से पूनम तीज क्वीन बनी। 

इसके बाद डांस का रिजल्ट घोषित किया गया जिसमें कोमल सिंह और अंकिता श्रीवास्तव विंनर रही। फिर मेहंदी प्रतियोगिता का परिणाम आया जिसमे डॉ जीतिका, डॉ दीप्ति और स्वाति अग्रवाल विंनर रही। और सबसे अंत मे आये गायन प्रतियोगिता के परिणाम में रितु गुप्ता, संध्या मिश्रा और नीता शुक्ल ने जीत का गिफ्ट अपने नाम किया।  इस मौके पर संस्था द्वारा कुछ समाज सभी महिलाओं को सम्मानित भी किया गया।





अधिक मनोरंजन की खबरें