रियल लाइफ में क्या 'एंग्री यंग मैन' वाली सोच नही रखते अमिताभ बच्चन!
File Photo


अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के 'एंग्री यंग मैन' कहे जाते हैं, और अगर वो किसी मुद्दे पर बात करते हैं तो हर कोई सुनना चाहता है. क्योंकि, वो बॉलीवुड के महानायक होने के साथ ही सम्मानित और प्रभावशाली शख्सियत भी हैं. हाल ही में 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' के ट्रेलर लॉन्च के दौरान मौजूद अमिताभ बच्चन और आमिर खान से मीडिया ने तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर के विवाद पर रिएक्शन मांगा. मीडिया की तरफ से इस विवाद पर सवाल पूछे जाने पर अमिताभ बच्चन ने इससे पल्ला झाड़ लिया. उन्होंने माइक लेते हुए कहा, 'ना तो मेरा नाम तनुश्री है, ना ही मैं नाना पाटेकर हूं. फिर मैं आपके इस सवाल का जवाब कैसे दूं?'

इस मामले पर अमिताभ बच्चन की टिप्पणी सुनने के बाद आमिर खान से यही सवाल किया गया. आमिर ने कहा, 'सच या किसी जानकारी के बिना, मुझे नहीं लगता कि मैं कोई टिप्पणी कर सकता हूं. यह मेरे लिए सही नहीं होगा. लेकिन, मैं यह कहना चाहूंगा कि जब भी ऐसा कुछ हुआ है, तो वो दुखद है. अब ऐसा हुआ है या नहीं इसकी जांच करानी चाहिए.'

इस सवाल-जवाब के बीच एक चीज है जो सोचने पर मजबूर करती है. आखिर ये सवाल सिर्फ अमिताभ बच्चन और आमिर खान से ही क्यों किया गया? जबकि इस इवेंट में कैटरीना कैफ और फातिमा सना शेख भी मौजूद थीं. क्या वो तनुश्री दत्ता की तरह फिल्म जगत का ​हिस्सा नहीं हैं? कैटरीना कैफ ने तो नाना पाटेकर के साथ काम भी किया है, तो फिर ये सवाल कैटरीना से क्यों नही किया गया.

हालांकि, इस मामले पर अमिताभ बच्चन का जवाब सुनकर झटका नहीं लगा, क्योंकि वो पहले भी कठुआ वाले मामले पर कुछ इसी तरह का रिएक्शन दे चुके हैं.अमिताभ बच्चन ने कठुआ मामले पर बात करते हुए कहा ​था कि 'इस मुद्दे पर चर्चा करना भी घृणित लगता है, इस मुद्दे को न उठाएं इसके बारे में बात करना भी भयानक है.'

70 के दशक के एंग्री यंग मैन और अपनी फिल्मों में आम आदमी को रिप्रेजेन्ट करने वाले और जुर्म के खिलाफ लड़ने वाले अमिताभ ने अभी तक अपने उसी रूप को ' 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' के आजाद के रूप में जारी रखा हुआ है. हालांकि, लगता है रियल लाइफ में वो अपने ऑनस्क्रीन किरदारों से बहुत दूर हैं. उन्होंने फिल्म 'पिंक' में महिलाओं के लिए लड़ने वाले वकील की भूमिका निभाई थी.

पर्दे पर इस तरह के किरदार निभाने वाले और 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' कैंपेन के ब्रांड एंबेसडर अमिताभ बच्चन आखिर महिला शोषण और महिलाओं से संबंधित मुद्दे पर खुलकर अपनी राय क्यों नहीं व्यक्त करते हैं?

अधिक मनोरंजन की खबरें