कंगना रनौत को अपना मुंह बंद रखना चाहिए : शेखर सुमन
कंगना रनौत और करण जौहर के बीच तनातनी सुर्खियां बटोर रही हैं.


मुंबई: कंगना रनौत और करण जौहर के बीच तनातनी सुर्खियां बटोर रही हैं. अगर आप इससे अनजान हैं तो हम बता दें कि कॉफी विद करण के एक एपिसोड में कंगना ने होस्ट करण पर फिल्म इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद फैलाने का आरोप लगाया था. साथ ही उन्हें 'मूवी माफिया' का टैग भी दिया था. हालांकि यह सब कुछ एक बेहद ही अनौपचारिक तरीके से हुई बातचीत का हिस्सा था लेकिन इसको लेकर गंभीरता से चर्चा हो रही है. एक अन्य कार्यक्रम में करण जौहर ने फिल्म समीक्षक अनुपमा चोपड़ा से इंटरव्यू में कहा कि 'अगर कंगना रनौत फिल्म इंडस्ट्री के इस माहौल से इतनी ही परेशान हैं तो वह फिल्म इंडस्ट्री छोड़ क्यों नहीं देतीं.'

कंगना की भी इस पर टिप्पणी आई कि बॉलीवुड करण के पिता द्वारा उन्हें दिया गया कोई स्टूडियो नहीं है जिसे वह अपने हिसाब से चला सकें. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वह कहीं नहीं जा रही हैं. इतने बवाल के बीच अभिनेता और टीवी होस्ट शेखर सुमन भी पीछे नहीं हटे हैं और उन्होंने एक बॉलीवुड से संबंधित वेबसाइट से बातचीत में कहा कि कंगना को अपना मुंह बंद रखना चाहिए और अच्छा होगा कि उनकी जगह उनका काम बोले. उन्होंने कहा कि अगर आप असफल रहे तो बेहतर होगा कि आप आगे बढ़कर इसे स्वीकार करें. जरूरी नहीं कि आप हर बार छत पर खड़े होकर चिल्लाएं और बताएं कि आपने क्या किया है. 

सबसे अच्छा होगा कि आप अपना मुंह बंद रखें.सुमन ने आगे यह भी कहा कि 'मुझे यह रोने धोने वाली औरतें अच्छी नहीं लगती जो हर वक्त प्रताड़ित होने का रोना रोती रहती हैं. यह अपनी सुविधा के अनुसार मर्द या औरत बन जाती हैं. जब बराबरी की बात होती है तो सब एक ही लाइन में खड़े मिलने चाहिए.'इससे पहले एक ट्वीट में शेखर सुमन ने 'कोकेन लेने वाली अभिनेत्री' का ज़िक्र किया था जिसे कंगना की तरफ इशारा समझा गया और सोशल मीडिया ने इस पर शेखर सुमन और उनके बेटे अध्ययन सुमन की जमकर आलोचना की. शेखर सुमन ने गुरुवार को एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने एक बार फिर बगैर नाम लिए किसी के 'बुरे रवैये, बुरी फिल्में, बुरी एक्टिंग, बुरी इंग्लिश' की बात लिखी. इस ट्वीट पर उनकी आलोचना की जा रही है और कुछ यूज़र्स ने शेखर सुमन पर कंगना के नाम पर पब्लिसिटी हासिल करने का आरोप लगाया है.

अधिक मनोरंजन की खबरें