राजस्थान की मुख्यमंत्री से मिलने जाएंगे संजय लीला भंसाली
जयपुर में सेट पर हमले के बाद भंसाली की टीम और कारनी सेना के नेताओं के बीच भी इसे लेकर समझौता हुआ था।


मुंबई : निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली की परेशानियां लगातार बढ़ती जा रही हैं। वे इस खबर से परेशान बताए जा रहे हैं, जिसमें कहा गया है कि राजस्थान की सरकार स्थानीय राजपूत समाज की संवेदनाओं को ध्यान में रखते हुए भंसाली की फिल्म पद्मावती को राज्य में रिलीज होने की इजाजत नहीं देगी। अब खबर मिल रही है कि संजय लीला भंसाली जल्दी ही जयपुर जाकर राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधराराजे सिंधिया से मिलेंगे, ताकि फिल्म को रिलीज होने में कोई बाधा न आए। खबर ये थी कि जनवरी में जयपुर में पद्मावती के सेट पर हमला करके भंसाली के साथ हाथापाई करने वाली कारनी सेना के लोगों ने हाल ही में राजस्थान सरकार के नेताओं से मुलाकात की। 

खबर के मुताबिक, इस मुलाकात में सरकार की ओर से कारनी सेना के नेताओं को आश्वासन दिया गया कि सरकार तब तक इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देगी, जब तक कारनी सेना इसे हरी झंडी न दे दे। कारनी सेना का आरोप है कि भंसाली की फिल्म में पद्मावती और मुगल राजा खिलजी के बीच रोमांस दिखाया है, जो करनी सेना के हिसाब से रानी पद्मावती से जुड़े इतिहास के विपरीत है। करनी सेना के लोगों ने जयपुर में सेट पर हंगामा किया था। पद्मावती की टीम से जुड़े सूत्र बता रहे हैं कि राजस्थान सरकार के इस रवैये से भंसाली हैरान हैं। 

सूत्रों के मुताबिक, वे एक बार मुख्यमंत्री सिंधिया से मिलकर अपनी स्थिति स्पष्ट कर देना चाहते हैं, ताकि सरकार कोई परेशानी न पैदा करे। 

जयपुर में सेट पर हमले के बाद भंसाली की टीम और कारनी सेना के नेताओं के बीच भी इसे लेकर समझौता हुआ था। इस हादसे के बाद राजस्थान में पद्मावती की शूटिंग की इजाजत नहीं दी गई। हाल ही में महाराष्ट्र के कोल्हापुर में फिल्म के सेट पर आग लगा दी गई। माना जा रहा है कि पद्मावती को लेकर विरोध करने वालों ने ही ये आग लगाई। इस फिल्म को इस साल दीवाली पर 17 नवम्बर को रिलीज होना है। फिल्म की प्रमुख भूमिकाओं में दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर हैं। 

अधिक मनोरंजन की खबरें