तो इस कारण पिलाया जाता है सुहागरात पर दूध
तो इस कारण पिलाया जाता है सुहागरात पर दूध


हमारे देश में शादी, जन्म और मरण को लेकर बहुत सी रस्में और रिवाज अपनाएं जाते हैं। लोग इन रिवाजों को लोग मानते भी बहुत हैं। इन्हीं में से एक है सुहागरात पर दूध पिलाने का रिवाज, लोग बरसो से लेकर आज तक इस रस्म को मानते आ रहे हैं। इसके पीछे बहुत से कारण भी हैं। आइए जानें क्यों पिलाया जाता है सुहागरात पर दूध।  

पवित्र है दूध
दूध को सबसे पवित्र माना जाता है। नवविवाहित जोड़ा इसे पीकर अपनी जिंदगी की शुभ शुरुआत करता है।  

स्टेमिना बढ़ाएं
ऐसा माना जाता है कि संबंध बनाने के दौरान दूध पीने से स्टेमिना और ताकत बढ़ती है। सुहागरात को अच्छा बनाने के लिए शादी की रात दूल्हा-दुल्हन को दूध पिलाया जाता है। 

कमजोरी करें दूर
शादी की रस्मों के कारण आई थकान को दूर करने के लिए दूध,बादाम,केसर बहुत लाभकारी हैं। इससे शरीर में ऊर्जा का अच्छा संचार होता है और टेस्टोस्टेरॉन और एस्ट्रोजन हॉर्मोन के निर्माण करने में भी दूध बहुत लाभकारी हैं। इसमें शामिल प्रोटीन हॉर्मोन्स सैक्स एक्सपीरियंस को बेहतर बनाते हैं।

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें