मुंह में मौजूद होते हैं 600 से ज्यादा बैक्टीरिया
इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों को ओरल एवं डेंटल केयर की जरूरत के बारे में जागरूक बनाना है.


नई दिल्ली : आपका मुंह आपकी सेहत बनाए रखने में सहयोग करता है, क्योंकि मुंह में 600 से अधिक तरह के बैक्टीरिया होते हैं, जो खून के द्वारा विभिन्न अंगों में पहुंचकर समस्याएं पैदा करते हैं. एक शोध में यह बात सामने निकलकर आई है कि खराब ओरल हाईजीन के कारण 40 से अधिक प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं. ओरल केयर जागरूकता अभियान 'हंस दो' के दौरान यह बात सामने आई. 

इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों को ओरल एवं डेंटल केयर की जरूरत के बारे में जागरूक बनाना है. क्लोव डेंटल के डॉक्टरों की एक मोबाईल वैन ने महिपालपुर के रंगपुरी पहाड़ी में इस कार्यक्रम के पहले संस्करण में 500 से अधिक लोगों की ओरल एवं डेंटल जांच की. 

इस अभियान में एनजीओए बाल विकास धारा ने भी हिस्सा लिया. बाल विकास धारा के सदस्य देवेंद्र कुमार बरल ने कहा, "हम स्वास्थ्य की सामान्य समस्याओं पर काफी काम करते हैं, लेकिन यह अभियान अनूठा है."

टिप्पणिया क्लोव डेंटल के सीईओए अमर सिंह ने कहा, "मीडिया के कारण कैंसर की रोकथाम, देखभाल एवं इलाज की जागरूकता शहरी इलाकों में कई गुना बढ़ गई है, लेकिन ग्रामीण इलाकों तथा शहरी झुग्गियों में यह काफी कम है. 'हंस दो' अभियान इस कमी को दूर करने के लिए शुरू किया गया है. इसका उद्देश्य लोगों को ओरल एवं डेंटल हाईजीन पर जागरूक बनाकर यह बताना है कि इसकी कमी से कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां किस प्रकार हो सकती हैं. इस प्रोग्राम के मॉड्यूल में दिल्ली की कई झुग्गियों में अवेयरनेस मीट और डेंटल चेकअप कैंप का आयोजन शामिल है. 

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें