फूड प्वाजिंग ने कर दिया है बेहाल तो तुरंत करें ये काम
Demo Pic


स्ट्रीट फू़ड या हैवी दावत खाने के बाद कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोग अक्सर फूड प्वाजिंग के शिकार हो जाते हैं। फूड प्वाजिंग में दस्त, उल्टी, एसिडिटी और सीने में जलन जैसी समस्याएं होने लगती है। ऐसी स्थिति अगर रात के समय हो जाए तो एकदम से डाक्टर के पास जाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।  ऐसे समय में घरेलू नुस्खे काफी मददगार साबित होते हैं। 
 

1. लहसुन
लहसुन में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं जो डायरिया और पेट दर्द से राहत दिलाते हैं। लहसुन की ताजी कलियां को गर्म पानी में उबाल लें और इस पानी को सिप-सिप करके पीएं। 

2. नींबू पानी
पेट के बैक्टीरिया और एसिडिक प्रॉब्लम को खत्म करने में नींबू काफी सहायक होता है। 1 टेबलस्पून नींबू के रस में चुटकीभर चीनी मिलाएं। इस पानी को 2 से 3 बार दिन में लें। आप गुनगुने पानी नींबू निचोड़कर भी पी सकते हैं। इससे भी तुरंत आराम मिलेगा। 

3. एप्पल साइडर वीनेगर
ग्रैस्ट्रिक प्रॉब्लम से तुरंत राहत पाने के लिए लिए सबसे बेस्ट नुस्खा है सेब का सिरका।एक गिलास गुनगुने पानी में 2 टेबलस्पून एप्पल साइडर वीनेगर डालें और खाने से पहले इसे पीएं। ग्रैस्ट्रिक प्रॉब्लम से राहत मिलेगी।

4. तुलसी
फूड प्वाजिंग से छुटकारा दिलाने में तुलसी भी बेस्ट हर्ब है।2 से 3 कप में मुट्ठीभर तुलसी के पत्ते उबाल लें। और इस पानी में शहद डालकर सीप सीप करके पीएं। आप दही में तुलसी के पत्ते डालकर भी खा सकते हैं। 

5. जीरा
1 गिलास पानी में 1 टीस्पून जीरा उबाल लें और आप इसमें नमक मिला सकते हैं। इस पानी  का सेवन दिन में 2 बार करें। 

6. शहद
एसिड और अपच, खराब पेट को ठीक करने में शहद भी फायदेमंद साबित होता है। अगर आप आर्गेनिक शहद का इस्तेमाल करेंगे तो ज्यादा बेहतर है।

7. केला
उल्टी और डायरिया की प्रॉब्लम होने पर केला या बनाना मिल्क शेक बनाकर पीएं इसमें आप चुटकीभर इलायची पाऊडर मिला सकते हैं। 

8. दही और मेथीदाना
पेट संबंधी कोई दिक्कत हैं तो दही में मेथीदाना मिक्स करके खाएं। 

9. संतरे का रस
ताजे संतरों के जूस में मिनरल्स, विटामिन्स और अन्य पोषक तत्व भरपूर होते हैं तो ब्लड प्रैशर लेवल को कंट्रोल में रखता हैं। इस जूस का सेवन करें। 

अन्य जरूरी बातें
अगर फूड प्वाजिंग के शिकार हो गए हैं तो खाने में हल्की चीजें लें। तली-भूनी व मसालेदार खाने, दूध से बनी चीजों से परहेज करें।

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें