प्रैग्नेंसी में रखेंगे इन 11 बातों का ख्याल तो मां-बच्चा दोनों ही रहेंगे हैल्दी
प्रैग्नेंसी में रखेंगे इन 11 बातों का ख्याल तो मां-बच्चा दोनों ही रहेंगे हैल्दी


प्रैग्नेंसी के दौरान महिला को अपनी खास देखभाल करने की जरूरत होती हैं क्योंकि अगर वह अपनी सेहत का ध्यान नहीं रखेगी तो इसका बुरा असर उसके आने वाली संतान को भी होगा इसीलिए यह कहा जाता है कि इस समय के दौरान महिला को खुश रहना चाहिए इसके साथ ही उसे खाने पीने व अन्य जरूरी बातों का भी खास ख्याल रखना चाहिए ताकि प्रैग्नेंसी में वह और बच्चा दोनों ही स्वस्थ रहें। 

1. आत्मविश्वास व आत्मनिर्भर रहें
पहली बार प्रैग्नेंसी कंसीव करने वाली महिलाएं अक्सर इस बारे में सोचती हैं कि वह प्रैग्नेंसी के दौरान किन तकलीफों से गुजरेगी। उन्हें क्या-क्या सहन करना पड़ेगा या वह कैसी दिखाई देंगी? प्रैग्नेंसी के दौरान ऐसी बातों की ओर ध्यान न देकर कूल मांइड रहें। आप जितना टैंशन फ्री रहेगी, उतना ही हैल्दी और खूबसूरत दिखेंगी। 

2. ऐसा रखें डाइट प्लान
गर्भावस्था में हैल्दी आहार खाएं। डाइट में फाइबर युक्त भोजन जैसे हरी सब्जियां, फल,बीन्स, साबुत अनाज, ओट्स, ब्राउन चावल शामिल करें। मछली का सेवन करें लेकिन जिन मछिलयों में मरकरी की मात्रा ज्यादा पाई जाती हैं उन्हें ना खाएं।कच्चे मांस और मछली का सेवन ना करें क्योंकि इसमें बैक्टीरिया पनपते हैं जो प्रैग्नेंट महिला के लिए हानिकारक हो सकते हैं। कैफीन युक्त और क्लरिंग फूड्स को ना कहें। दिन में 300 से 500 कैलोरी लेना प्रैग्नेंट महिला के लिए अच्छा है।

3. बॉडी डिटॉक्स जरूर करें
बॉडी को डिटॉक्स करना बहुत जरूरी है। इसके लिए पानी का अधिक से अधिक सेवन करें लेकिन रात को सोने से एक घंटा पहले इसे नहीं पीना चाहिए क्योंकि इससे आपको रात को बार-बार बाथरूम जाना पड़ेगा।

4. रोजाना करें हल्का-फुल्का व्यायाम
बहुत सारे लोगों को मानना हैं कि इस दौरान महिला को एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए लेकिन ऐसा नहीं है। बल्कि रोजाना महिला को हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करनी चाहिए। इससे ब्लड प्रैशर व अन्य प्रॉब्लम्स दूर रहती हैं और बेबी बर्थ के बाथ आपकी बॉडी वापिस शेप में आ जाएगी लेकिन इस दौरान हैवी एक्सरसाइज करने की गलती ना करें। इस दौरान सैर, तैराकी और योगा किया जा सकता है। 

5. मेकअप प्रॉडक्टस 
आप इस समय के दौरान कोई भी चीज अपने चेहरे या त्वचा पर लगाते हैं तो उसका प्रभाव आप और बच्चे दोनों पर पड़ेगा इसलिए मेकअप में ऐसे प्रॉडक्ट्स का सेवन करें जो बिलकुल सुरक्षित हो, जितना हो सके नैचुरल प्रॉडक्ट्स इस्तेमाल करें। मेकअप की एक्सपेरीमेंट डेट व सामग्री जरूर चैक करें क्योंकि यह शरीर पर साइड इफैक्ट्स भी डाल सकते हैं।  

6. स्पा ट्रीटमेंट करवाएं
प्रेग्नेंसी में रिलैक्स होना बहुत जरूरी है लेकिन इसके लिए गर्म पानी से नहाना आपके बच्चे के लिए नुकसानदेह हो सकता है। रिलैक्स होने के लिए डॉक्टर की सलाह से स्पा ट्रीटमेंट लें।

7. घरेलू उपचार अपनाएं
इस अवस्था में होने वाली समस्याएं जैसे मतली, कब्ज, दिल की धड़कन के लिए घरेलू उपचार अपनाएं। पुदीना कैंडी और अदरक मतली की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। दिल की धड़कन में सुधार लाने के लिए गर्म दूध काफी फायदेमंद है। 

8. सनस्क्रीन इस्तेमाल करें
गर्भावस्था में स्किन बहुत सेंसटिव हो जाती है इसलिए धूप में निकलते समय टोपी, चश्मा और छाते का इस्तेमाल करें। इसके अलावा सनस्क्रीन जरूर लगाएं। स्ट्रैच मार्क्स से छुटकारा दिलाने के लिए घरेलू टिप्स और बॉडी ऑयल का इस्तेमाल जरूर करें।  

9. सोने का सही तरीका
प्रैग्नेंसी में घुटनों को एक तरफ करके सोना सबसे आरामदायक है। कुछ लोगों का मानना है बायीं ओर साइड लेकर सोने से रक्त प्रवाह बढ़ता है और प्लेसेंटा को आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं लेकिन अभी तक इस बारे में कोई स्पष्ट पुष्टि भी नहीं हुई है। जो महिलाएं इस दौरान सीधा पीठ के बल सोती हैं उनकी कमर में दर्द की परेशानी रहती हैं और रक्त प्रवाह भी कम होता है। 

10. सफर में बरतें सावधानी
प्रैग्नेंसी के 14 से 28 हफ्ते सफर के लिए सहीं समय माना जाते हैं। इसके अलावा प्रैग्नेंसी के पहले और अंत के हफ्ते काफी रिस्की होते हैं। सफर के दौरान खूब सारा पानी पीएं और आधे पौने घंटे के बाद जरूर हल्की फुलकी सैर करें।  सफर करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लेना ना भूले।

11. एेंठन से कैसे पाएं राहत
इस दौरान मांसपेशियों में अकड़न व ऐंठन की परेशानी बहुत ज्यादा होती है। इसके लिए आपको हल्के गुनगुने तेल की मसाज करनी चाहिए। आप आई पैक्स का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। बैलेंस डाइट और भरपूर पानी पीकर इस क्रेंप्स से छुटकारा पाया जा सकता है।

12. हील्स को कहें ना
इस दौरान पैरों व एड़ियों में काफी सूजन आ जाती हैं। इसलिए हील्स पहनने की गलती ना करें। सबसे बढ़िया ऑप्शन है कि आप कंफर्टेबल फ्लैट पहनें। और प्रैग्नेंसी में जूतों का साइज नार्मल से थोड़ा ज्यादा रखें।

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें