प्रेग्नेंसी में न करें इन 9 चीजों का सेवन बढ़ सकता है Miscarriage का खतरा
प्रेग्नेंसी में न करें इन 9 चीजों का सेवन बढ़ सकता है Miscarriage का खतरा


प्रेग्नेंसी मेें अपने खानपान का खास ध्यान रखने की जरुरत होती है। इस दौरान मां द्वारा खाया पोष्टिक भोजन गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत पर असर डालता है। सीधे तौर पर प्रभावित होता है. इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान डॉक्टर्स खानपान का खास ख्याल रखने की सलाह देते है। कुछ ऐसी चीजें होती है जो गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान पंहुचा सकती है इसलिए उन्हें अपनी डाइट का हिस्सा मत बनाइएं। आइए जानते हैं कि कौन-कौन सी चीजों का सेवन आपके शिशु के लिए खतरा हो सकता है।

1. कैफीन
अगर आप मां बनने वाली हैं और कैफिन का सेवन करती है तो इसे बंद कर दें क्योंकि इसका सीधा असर आपके बच्चे पर हो सकता है।  प्रेग्नेंट औरत को चॉकलेट का भी कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि चॉकलेट में भी कैफीन पाया जाता है, जो मां और उसके होने वाले बच्चे दोनोंं की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। 

2. अल्कोहल
हम सब  जानते हैं कि अल्कोहल सेहत के लिए हानिकारक होती है। अगर एक प्रेग्नेंट औरत अल्कोहल का ज्यादा सेवन करती है तो उसके गर्भपात होने का खतरा 50% बढ़ जाता है। साथ ही बच्चे के विकास पर भी बुरा असर पड़ता है।

3. कच्चा अंडा
इसमें साल्मोनेला बैक्टीरिया होता है, जिसके कारण फूड प्वॉयजनिंग हो सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं की बीमारियों से लड़नें की ताकत घट जाती है और उन्हें कच्चे अंडे के सेवन से उल्टी, दस्त, पेटदर्द, बुखार आदि समस्या हो सकती है।  यहां तक कि साल्मोनेला बैक्टीरियम गर्भ में पल रहे बच्चे को सीधे तौर पर प्रभावित करता है इसलिए प्रेंग्नेंसी में महिला को कच्चे अंडे न खाने की सलाह दी जाती है। 

4. सॉफ्ट चीज़
प्रेग्नेंसी के दौरान सॉफ्ट चीज का सेवन नही करना चाहिए। अनपाश्चराइज्ड सॉफ्ट चीज में लिस्टेरिया होता है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु को इंफेक्शन का खतरा हो सकता है।

5. फ्रोजेन फूड
प्रेग्नेंट औरत को हैल्दी फूड की जरुरत होती है लेकिन फ्रोजेन फूड्स में पोष्टिक तत्व न के बराबर होते है। स्टोरिंग की वजह से इनमें विटामिन सी, विटामिन बी1, बी2 और विटामिन ए की मात्रा खत्म हो जाती है। फलों और सब्ज‍ियों को ताजा खाया जाए तो ही अच्छा होता है इसलिए फ्रोजेन फूड खाने में परहेज करे।  यह फूड प्वॉयजनिंग की वजह भी बन सकते है।

6. कच्चा सी-फूड 
भोजन को हमेशा अच्छी तरह पकाकर खाना चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान कच्चा और आधा पका हुआ सी-फूड खाने से बचना चाहिए। सी-फूड में बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो आपको बीमार कर सकते है। 

7. पपीता
वैसे तो पपीता खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन पपीता कच्चा हो या पक्का इसे गर्भवस्था में नही खाना चाहिए इस दौरान पपीता का सेवन खतरनाक हो सकता है। पपीता में लेटेक्स होता है जो यूटेराइन कॉनट्रैक्शन शुरू कर देता है। इसकी वजह से प्रेग्नेंसी में समय से पहले ही लेबर पेन शुरू हो सकता है और गर्भपात हो सकता है।

8. सॉफ्ट ड्रिंक्स
गर्भावस्था में सॉफ्ट ड्रिंक्स भी नही पीनी चाहिए।सॉफ्ट ड्रिंक्स में ऐसे पदार्थ होते है जिनसे डिलीवरी के बाद छोटी उम्र में ही बच्चे को पाचन और वजन से जुड़ी समस्याएं हो जाती है।

9. प्रोसेस्ड जंक फूड
गर्भवती औरत को दूसरी औरतों के मुकाबले ज्यादा न्यूट्रिएंट्स की जरूरत होती है लेकिन प्रोसेस्ड जंक फूड में न्यूट्रिएंट्स की मात्रा कम और कैलोरी अधिक होती है। इसके साथ ही ऐसे फूडस में शूगर और फैट भी ज्यादा होती है जो डायबिटीज और दिल की बीमारियों को बढ़ावा देती है।

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें