लांच हुआ 'बेरोक जिंदगी'  मल्टी मीडिया जागरूकता अभियान, अब अस्थमा जैसी बीमारी से होगी सीधी टक्कर
Press Confrence


लखनऊ,  अस्थमा एक ऐसी बीमारी जो आज धीरे-धीरे अपने को प्रभाव को लगातार बढाती जा रही है. स्थिति ये है की आज ये बीमारी बच्चों को भी अपनी जकड में ले रही है. ज्यादतर लोग इसके इलाज के लिए दवाइयों यानि गोलियों को प्रयोग करते है जबकि इसके इलाज का सबसे कारगार हथियार इन्हेलर जो सीधा फेफड़ों में जाकर असर करता है पर इन्हेलर से जुडी भ्रांतियों के चलते मरीज अक्सर इन्हेलर की जगह पर गोलियां लेना ज्यादा पसंद करते है. 



इन्ही भ्रांतियों को दूर करने के लिए मेडिकल की दुनिया की जाने मानी कंपनी सिप्ला ने 'बेरोक जिंदगी' टाइटल से एक मल्टी मीडिया जागरूकता अभियान की लांचिंग आज राजधानी लखनऊ में की. जिसमे बताया गया कि इस रोग से लड़ने में इंहेलेशन थैरिपी सबसे विकल्प है. इस बता को अच्छी तरीके से समझने के लिए ये अभियान अस्थमा से जुड़े लोगो और डाक्टरों को जानकारी और संसाधन भी प्रदान करेगी. इस अभियान का लक्ष्य अस्थमा रोगियों में इन्हेलर को स्वीकार्य बनाना है. 



इस मौके पर मिडलैंड हेल्थ केयर के चेस्ट फिजिशियन डॉ. बी.पी सिंह, न्यू चाइल्ड केयर के कंसल्टेंट डॉ एस निरंजन, सिप्ला लिमटेड कि वॉइस प्रेसिडेंट नित्या बालासुब्रमणियन भी मौजद रही. तीनो डॉक्टर्स ने भी अस्थमा बीमारी से जुडी महत्वपूर्ण बातें शेयर की.   

ये अभियान 15 सितम्बर से शुरू होगा जिसमे अस्थमा रोगी और बॉलीवुड की जानी-मानी अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा भी हिस्सा लेंगी.     

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें