टैग:love#couples#relatuonship#lovelife#
स्पेस देने से बढ़ता है आपस में प्यार
Love gives love to one another




प्यार भरे रिश्ते में बातचीत का एक अहम रोल है. पार्टनर से जितना ज्यादा अपने विचार साझा करेंगे उतना ज्यादा अच्छे से ही आप उसे समझ पायेंगे औए आपके रिश्ते में करीबी होगी. लेकिन रिश्तों में थोड़ी दूरी और निजता भी जरूरी है. निजता के मायने हर रिश्ते के हिसाब से अलग-अलग होते हैं. जब लोग प्यार में होते हैं तो कई बार कुछ बातें ऐसी होती हैं जिन्हें साथी के साथ शेयर करने पर लोग असहज महसूस करते हैं. साथी के इस व्यवहार को लेकर कई लोगों के मन में यह बात बैठ जाती है कि साथी उनपर विश्वास नहीं करता और उनके बीच का प्यार हवा हो चुका है. अगर आपका साथी आपसे कुछ नहीं बताना चाहता तो आपको उसके इस व्यवहार को स्वीकार करना होगा और समझना होगा.


अगर आप चाहते हैं कि आपके रिश्ते में कभी कोई परेशानी न आये तो बेहतर है कि इस मसले पर पहले ही आप अपने पार्टनर से बातचीत कर लें और उन्हें अच्छे से बता दें कि आपके लिए पर्सनल स्पेस और प्रिवेसी के क्या मायने हैं. विश्वास किसी भी रिश्ते की नींव होता है. अगर आपका साथी रिश्ते को लेकर कमिटेड हैं और आप उनपर ट्रस्ट कर पाते हैं तो ये आपके रिश्ते में ठहराव और मजबूती लेकर आएगा और आपको अपने साथी की निजता से कोई समस्या नहीं होगी.

जब लोग अपना जीवनसाथी चुनते हैं जो अपनी जिंदगी का एक लंबा वक्त उनके साथ बिताने का फैसला करते हैं. लेकिन इसके लिए ये कतई जरूरी नहीं है कि दिन भर में जो कुछ भी है वो सब साथी के सामने जाकर उगल दें.


अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें