टैग:Wholesale inflation rate at 23-month low
थोक महंगाई दर 23 माह के निचले स्तर पर
Wholesale inflation rate at 23-month low


नई दिल्ली: महंगाई के मोर्चे पर मोदी सरकार को बड़ी राहत मिली है। खुदरा महंगाई दर के बाद अब थोक महंगाई दर भी 23 माह के निचले स्तर पर है।

केंद्रीय सांख्यिकी मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी किए गए आकंड़े के मुताबिक थोक महंगाई दर (डब्ल्यूपीआईजुलाई महीनें में 1.08 फीसदी पर आ गई है। इससे पहले जून महीने में थोक महंगाई की दर 5.27 फीसदी थी। इस लिहाज से भी एक महीने में थोक महंगाई दर में 4.19 फीसदी की गिरावट आई है।यदि एक साल पहले से इसकी तुलना करें तो इसमें 0.94 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।


उल्लेखनीय है कि एक साल पहले जुलाई, 2018 में थोक महंगाई दर के आंकड़े 2.02 फीसदी पर थे। इससे एक दिन पहले मंगलवार को खुदरा महंगाई दर के आंकड़े केंद्रीय सांख्यिकी मंत्रालय ने जारी किए थेजिसके मुताबिक जुलाई में खुदरा महंगाई दर घटकर 3.15 फीसदी पर आ गई है। एक साल पहले जुलाई, 2018 में खुदरा महंगाई दर 4.17 फीसदी पर थी। इस तरह इसमें में भी एक फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।


केंद्र सरकार ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआईको खुदरा महंगाई दर 4 फीसदी  के दायरे में रखने का लक्ष्य दिया है। आरबीआई ने महंगाई दर के आकंड़ों के आधार पर ही रेपो रेट में कटौती करता है।


अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें