बरतें सावधानी: 15 सिगरेट पीने के बराबर धुआं आपके फेफड़ों में जा रहा है...
कांसेप्ट फोटो


इन दिनों प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में सांस लेना तो मुश्किल है ही साथ ही ये कई तरह की बीमारियां भी दे रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक रोज 15 सिगरेट पीने के बराबर धुआं आपके फेफड़ों में जा रहा है। इस खतरनाक प्रदूषण से बचाव के लिए विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। 

मीडिया खबरों की माने तो लगातार बढ़ते प्रदूषण से दमा और सांस रोगियों की हालत खराब कर दी है। अस्थमा अटैक और सांस में संक्रमण के मरीज तेजी से बढ़ रही हैं।


प्रदूषण से हो रही है ये बीमारी

नाक-कान में खुजली, आंखों में जलन, सूखी खांसी की परेशानी हो रही है। दमा-सांस रोगियों की नलिकाओं में सूजन, संक्रमण मिल रहा है। सीने में घर्र-घर्र की आवाज, छाती में दर्द, जल्दी-जल्दी सांस लेना की परेशानी मिल रही है। 


बरतें सावधानी: 

घर की खिड़की-दरवाजे बंद रखें, छिड़काव करें। 
सुबह-शाम ज्यादा स्मॉग है, इस समय टहलने से बचें।
बाहर जाते वक्त मुंह मास्क लगाएं, चश्मा भी पहनें।
आंखों में जलन होने पर रगडे़ं नहीं, हाथों से आंखें न दबाएं।
गर्म कपड़े निकाल रहे हैं तो उनको पहले धूप लगा लें।
सांस-दमा रोगी दवाएं बंद न करें, परेशानी पर डॉक्टर को दिखाएं। 


(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें