शिक्षा पर खर्च के मामले में भारत बहुत पीछे
एचएसबीसी के एक अध्ययन में यह जानकारी दी गई है।


मुंबई : भारत में अभिभावक अपने बच्चे की शिक्षा पर प्राइमरी से लेकर ग्रैजुएट डिग्री तक औसतन 18,909 डॉलर (करीब 12.22 लाख रुपये) खर्च करते हैं। यह वैश्विक स्तर पर औसत खर्च 44,221 डॉलर (करीब 28.40 लाख) के मुकाबले काफी कम है। इसमें बच्चे की शिक्षा की पूरी लागत शामिल हैं। एचएसबीसी के एक अध्ययन में यह जानकारी दी गई है। 15 देशों से जुड़े इस सर्वे में भारत का स्थान 13वां हैं। उसके पीछे केवल मिस्र और फ्रांस हैं।

एचएसबीसी की 'वैल्यू ऑफ एजुकेशन' रिपोर्ट में 15 देशों के 8,481 अभिभावकों की राय को शामिल किया गया। इनमें ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चीन, मिस्र, फ्रांस, हॉन्ग कॉन्ग, भारत, इंडोनेशिया, मलेशिया, मेक्सिको, सिंगापुर, ताइवान, यूएई, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं।

भारत में खर्च कब

89% अभिभावक बच्चे की शिक्षा के मौजूदा दौर में उसे फंड मुहैया कराते हैं

94% अभिभावक अपने बच्चे की पोस्ट ग्रैजुएट शिक्षा को लेकर विचार कर रहे हैं

79% इसकी फंडिंग का भी इरादा रखते हैं

87% अभिभावक सोचते हैं कि पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री हासिल करना उनके बच्चे के लिए अहम है

फंडिंग कहां से

59% अपनी आय से

48% सामान्य बचत, निवेश या इंश्योरेंस से

30% शिक्षा बचत या निवेश योजना के जरिये

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें