डॉनल्ड ट्रंप-किम जोंग-उन के साथ बातचीत के लिए तैयार
उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन को कई बार चेतावनी जारी कर चुके अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के तेवर अब नरम पड़ते दिख रहे हैं।


वॉशिंगटन : उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन को कई बार चेतावनी जारी कर चुके अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के तेवर अब नरम पड़ते दिख रहे हैं। ट्रंप ने शनिवार को कहा कि वह सीधे तौर पर किम जोंग-उन से बातचीत करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहां कि उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच बातचीत से प्योंगयांग के परमाणु कार्यक्रम विवाद से निपटने में मदद मिलेगी। ट्रंप का यह बयान बीते दिनों के उनके रवैये के बिलकुल उलट है। इससे पहले उन्होंने किम जोंग-उन और नॉर्थ कोरिया को कई बार अपनी हदों में रहने की चेतावनी देते हुए कहा था कि उसे परमाणु कार्यक्रम बढ़ाने पर अंजाम भुगतना पड़ सकता है।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह किम जोंग-उन से बातचीत करने के लिए तैयार हैं, ट्रंप ने कहा, 'मैं हमेशा बातचीत में विश्वास करता हूं।' हालांकि उन्होंने कहा कि इसका अर्थ किसी पूर्व शर्त के बिना बातचीत करना नहीं है। उन्होंने कहा, 'निश्चित तौर पर मैं ऐसा करूंगा। इसमें मुझे कोई दिक्कत नहीं है।' बीते दो सालों से अधिक वक्त में पहली बार उत्तर एवं दक्षिण कोरिया ने आधिकारिक तौर पर बातचीत करने पर सहमति जताई है। ट्रंप ने उम्मीद जताई की यह बातचीत कामयाब होगी और दक्षिण कोरिया में आयोजित होने वाले विंटर ओलिंपिक्स में नॉर्थ कोरिया भी हिस्सा लेगा। 

ट्रंप ने कहा, 'मैं यह देखना पसंद करूंगा कि वे इसे ओलिपिंक्स से आगे ले जाएं।' यही नहीं उन्होंने कहा कि सही समय आने पर हम भी इस प्रक्रिया में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि यदि इस बातचीत से कोई परिणाम निकलता है तो यह मानवता के लिए बहुत बड़ी बात होगी। बता दें कि नए साल के मौके पर दिए अपने भाषण में उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग ने कहा था कि वह ओलिंपिक्स की सफलता देखना चाहते हैं। यही नहीं उन्होंने 9 से 25 फरवरी के दौरान होने वाले ओलिंपिक्स में अपने डेलिगेशन भेजने पर विचार करने की भी बात कही। 

अधिक विदेश की खबरें