डॉनल्ड ट्रंप और किम के बीच मई में मुलाकात संभव
अमेरिका और उत्तर कोरिया के तल्ख संबंधों में सुलह के संकेत मिलते दिख रहे हैं।


वॉशिंगटन : अमेरिका और उत्तर कोरिया के तल्ख संबंधों में सुलह के संकेत मिलते दिख रहे हैं। अभीतक एक-दूसरे पर तंज कसने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच मई में मुलाकात हो सकती है।

ट्रंप ने किम से मिलने के लिए गुरुवार को हामी भर दी है। दोनों नेताओं के बीच होने वाली इस मुलाकात को ऐतिहासिक माना जा रहा है। दक्षिण कोरिया के नैशनल सिक्यॉरिटी ऑफिस के हेड चुंग एइयोंग ने पत्रकारों को इस मुलाकात के बारे में जानकारी दी। बता दें कि दक्षिण कोरिया के नैशनल सिक्यॉरिटी अडवाइजर चुंग एइयोंग फिलहाल वॉशिंगटन के संक्षिप्त दौरे पर हैं। वह यहां अमेरिका और सहयोगी देशों को उत्तर कोरिया के अपने हालिया और ऐतिहासिक दौरे पर किम जोंग उन से हुई बातचीत का ब्यौरा देने आए हैं। 

दक्षिण कोरियाई अधिकारियों की सोमवार को किम के साथ हुई मुलाकात के बारे में ट्रंप को जानकारी देने के बाद योंग ने गुरुवार को वाइट हाउस में बताया कि किम परमाणु कार्यक्रम रोकने और मिसाइल टेस्ट सस्पेंड करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 

इस बैठक के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भी दावा किया कि दक्षिण कोरिया अगले कुछ घंटों में उत्तर कोरिया को लेकर बड़ा ऐलान करने वाला है। वाइट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में हंसते हुए ट्रंप ने कहा, 'दक्षिण कोरिया भारतीय समय से शाम साढ़े पांच बजे के करीब एक बड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण ऐलान करने वाला है।' 

जब ट्रंप से यह पूछा गया कि दक्षिण कोरिया का ऐलान उत्तर कोरिया से जुड़ा होगा या कारोबार पर तो ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया को लेकर। ट्रंप ने ज्यादा विवरण नहीं दिया। बता दें कि उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन के आक्रामक परमाणु कार्यक्रम से कोरियाई प्रायद्वीप में अक्सर तनाव का माहौल रहता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और किम जोंग उन के बीच तीखी जुबानी जंग भी हो चुकी है। 

अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच कभी-कभी तनाव का स्तर इतना ज्यादा बढ़ जाता है कि दोनों देशों के बीच जंग छिड़ने की आशंका तेज हो जाती है। हालांकि हाल ही में दक्षिण कोरिया में हुए विंटर ओलिंपिक के दौरान दोनों कोरियाई देशों के बीच तनाव का माहौल कम हुआ है। उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया अपनी टीम भेजी थी और दोनों कोरिया की संयुक्त टीम ने गेम्स में हिस्सा लिया था। उसके बाद दोनों देशों के बीच उच्च स्तर की कई राउंड बातचीत भी हो चुकी है। 

अधिक विदेश की खबरें