तीन आतंकियों पर अमेरिका ने रखा 70 करोड़ का इनाम
अफगानिस्तान और उसके आसपास पनप रहे आतंकवाद पर अमेरिका फिर से सख्त होता दिख रहा है।


वॉशिंगटन : अफगानिस्तान और उसके आसपास पनप रहे आतंकवाद पर अमेरिका फिर से सख्त होता दिख रहा है। ड्रोन हमले के बाद अब अमेरिका ने तीन बड़े पाकिस्तानी आतंकियों की जानकारी देनेवालों को इनाम देने की घोषणा की है। कुल मिलाकर इनाम की रकम 70 करोड़ रुपए है। अमेरिकी गृह मंत्रालय द्वारा जारी सूचना के मुताबिक, मुल्ला फजलुल्लाह, अब्दुल वली और मनाल वाघ की जानकारी देनेवालों को इनाम दिया जाएगा। मुल्ला पर 5 मिलियन डॉलर (तकरीबन 32 करोड़ रुपए) और बाकी दोनों पर तीन-तीन मिलियन डॉलर (करीब 19-19 करोड़ रुपए) का इनाम है।

बता दें कि इससे पहले अमेरिका ने अफगानिस्तान पर ड्रोन हमला किया था, जिसमें कथित तौर पर मुल्ला का बेटा भी मारा गया है। उस हमले में 21 विद्रोहियों के मारे जाने की बात कही जा रही है। 

कौन है मुल्ला फजलुल्लाह 
मुल्ला तहरीक ए तालिबान का प्रमुख है। वह कई आतंकी साजिशों में शामिल रहा है। उसने ही मलाला युसुफजई पर हमला करवाया था। कथित तौर पर उसने 2010 में न्यू यॉर्क के टाइम्स स्कॉयर में भी हमला करने का प्लान बनाया था, लेकिन वह विफल रहा। 

फजलुल्लाह के साथियों ने पाकिस्तानी इतिहास के सबसे घातक आंतकवादी घटना को अंजाम दिया था। उस हमले में आतंकवादियों ने पाकिस्तान के पेशावर में एक आर्मी पब्लिक स्कूल पर हमला किया था। इस घटना में 130 से ज्यादा बच्चों समेत 151 लोग मारे गए थे। 

वहीं, अब्दुल वली अफगानिस्तान के नंगरहार और कुनार प्रांत से अपनी गतिविधयां चलाता है। वली के नेतृत्व में जमात- उल- अहरार पंजाब प्रांत में टीटीपी के सबसे सक्रिय नेटवर्क में से एक है, जिसने पूरे पाकिस्तान में कई हमलों और आत्मघाती हमलों की जिम्मेदारी ली है। 

विदेश मंत्रालय के मुताबिक मनाल वाघ और उसका समूह मादक पदार्थों की तस्करी, अपहरण, नाटोके काफिलों पर छापेमारी और पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच सीमा पार से होने वाले व्यापार पर लगने वाले कर से पैसा कमाते हैं। 

पहले आ चुकी हैं मारे जाने की खबरें 
बता दें कि इससे पहले कई बार मुल्ला के मारे जाने की खबरें भी आती रही हैं, फिर बाद में वे गलत निकलती हैं। माना जाता है कि वह अफगानिस्तान में कहीं छिपा हुआ है। 

अधिक विदेश की खबरें