अल्जीरिया में छात्रों को नकल से रोकने के लिए इंटरनेट बंद
भारत में जहां परीक्षाओं में नकल की खबरें आई-गई हो गई हैं वहीं एक देश ऐसा भी है जिसने परीक्षार्थियों को चीटींग से रोकने के लिए इंटरनेट ही बंद कर दिया।


अल्जीयर्स  : भारत में जहां परीक्षाओं में नकल की खबरें आई-गई हो गई हैं वहीं एक देश ऐसा भी है जिसने परीक्षार्थियों को चीटींग से रोकने के लिए इंटरनेट ही बंद कर दिया। अल्जीरिया में बुधवार को हाई स्कूल डिप्लोमा एग्जाम्स शुरू हुए हैं और पहले ही दिन नकल को रोकने के लिए इंटरनेट ब्लैकआउट कर दिया गया है। 

कुल दो घंटे के लिए पूरे देश में मोबाइल और फिक्स्ड इंटरनेट ठप रहा। अल्जीरी टेलिकॉम ने बताया कि सरकार के आदेशों के मुताबिक, इंटरनेट सेवा रोक दी गई थी ताकि हाई स्कूल डिप्लोमा टेस्ट बिना बाधा के पूरा हो सके। 

अब जब तक यह परीक्षाएं चलेंगी तब तक 7 लाख स्टूडेंट्स को नकल से रोकने के लिए इंटरनेट ब्लैकआउट जारी रहेगा। सोमवार तक यह परीक्षाएं चलनी हैं। टेलिकॉम असोसिएशन AOTA के अध्यक्ष अली कहलाने के मुताबिक, ऑपरेटर्स के लिए सरकार की मांगों को पूरा करना जरूरी है। 

साल 2016 में हुए एग्जाम्स के दौरान बड़े पैमाने पर नकल हुई थी। इस दौरान परीक्षा में पूछे गए सवाल परीक्षा से पहले ही सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिए गए थे। बीते साल प्रशासन ने ऑपरेटर्स से सोशल मीडिया एक्सेस को प्रतिबंधित करने का आदेश दिया लेकिन इससे समस्या का समाधान नहीं हुआ। इंटरनेट एक्सेस वाले इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे मोबाइल और टैबलेट्स को इस साल अल्जीरिया के 2000 एग्जाम सेंटर्स पर बैन कर दिया गया है। 

शिक्षा मंत्री नौरिया बेनघार्बिट ने बताया कि परीक्षा केंद्रों पर मेटल डिटेक्टर्स लगाए गए हैं। प्रश्नपत्र लीक होने से बचाने के लिए उन जगहं पर भी जैमर्स और सर्विलांस कैमरा लगाए गए जहां प्रश्नपत्र छपे हैं। 

अधिक विदेश की खबरें