विरोध, अस्वीकृत और इस्तीफा: अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट में जजों की नियुक्ति से पहले हुए विवाद
File Photo


न्यूयार्क, भारी विवाद के बाद ब्रेट कैवनॉग ने अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट के जज की शपथ ले ली है. ब्रेट कैवनॉग को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से सुप्रीम कोर्ट के जज के लिए नामित किया गया था, लेकिन यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरने की वजह से उनको इस पद के लिए नामित करना विवाद का विषय बन गया. हालांकि यह पहली बार नहीं है जब अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट में किसी जज की नियुक्ति को लेकर विवाद हुआ हो. अमेरिका इससे पहले भी ऐसे विवादों का साक्षी रह चुका है. चलिए एक नजर उन विवादों पर डालते हैं.

क्लैरेंस थॉमस

समान रोजगार अवसर आयोग के अध्यक्ष क्लैंरेंस थॉमस का नाम 1991 में राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने सुप्रीम कोर्ट में पहले अफ्रीकन अमेरिक जस्टिस थ्रूगुड मार्शल की जगह पर नामित किया था. सीनेट में सुनवाई के दौरान थॉमस पर समान रोजगार अवसर आयोग का अध्यक्ष रहने के दौरान अनीता हिल नाम की महिला का यौन शोषण का आरोप लगा.

थॉमस ने आरोपों से इनकार किया और सीनेट ने 52-48 के नजदीकी वोट अंतर से उनके नाम को मंजूरी दी. 70 साल के थॉमस अब भी सुप्रीम कोर्ट में जज हैं और सबसे अधिक वक्त तक सेवा करने वाले जज हैं.

रोबर्ट बोर्क

अपील कोर्ट के जज रोबर्ट बोर्क को साल 1987 में राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने नामित किया था. सिविल राइट और अन्य मुद्दों पर अपनी कथित दुश्मनी को लेकर डेमोक्रेट के सीनेट ने उनके नामांकन का विरोध किया और 58-42 से उनका नामांकन रद्द हो गया. इसके बाद रेगन ने इस पद पर एंटनी केनेडी को नामित किया जिनका नाम 97-0 से स्वीकृत हो गया. केनेडी ने इसी साल रिटायर होने का फैसला किया जिनके स्थान पर राष्ट्रपति ट्रंप ने कैनवॉग को नामित किया.

वहीं अक्टूबर 2018 में 85 साल की उम्र में बोर्क की मौत हो गई.

मैरिक गारलैंड

मैरिक गारलैंड का नाम मार्च 2016 में राष्ट्रपति बराक ओबामा ने नामित किया था. रिपब्लिकन की बहुमत वाले सीनेट ने गारलैंड के नामांकन पर नवंबर 2016 के चुनाव से पहले सुनवाई से इनकार कर दिया और जनवरी 2017 में नई कांग्रेस के बाद उनका नाम अतीक की बात हो गई.

जब कैवनॉग के नाम को लेकर विवाद चल रहा था तो कुछ रिपब्लिकन ने यह भी कहा था कि डेमोक्रेट्स गारलैंड का बदला लेने के लिए ऐसा कर रहे हैं.

हैरिट माइर्स

वाइट हाउस के पूर्व काउंसिल और स्टाफ के डिप्टी चीफ हैरिट माइर्स को राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने 2005 में सुप्रीम कोर्ट के जज के लिए नामित किया था. जैसे ही माइर्स नाम नामित किया गया डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन दोनों ही पार्टियों के कुछ सदस्यों ने उनकी योग्यता और अनुभव को लेकर विरोध शुरू कर दिया. इसके बाद बुश ने उनका नाम वापस लेकर सेमुअल अलिटो को नामित किया, जिनके नाम को 58-40 से स्वीकृति मिल गई.

अबे फोर्टास

अबे फोर्टास का नाम 1965 में अमेरिकी राष्ट्रपति लिंडन बी. जॉन्सन ने सुप्रीम कोर्ट के जज के लिए नामित किया था. फोर्टास सिक्योरिटी एवं एक्सचेंज कमीशन के पूर्व प्रमुख और येल यूनिवर्सिटी में लॉ के प्रोफेसर थे.

अधिक विदेश की खबरें