जी-20: बैंक से कर्ज लेकर भागे कारोबारियों को पकड़ने के लिए भारत ने पेश किया 9 प्वाइंट एजेंडा
File Photo


भारत सरकार ने विजय माल्या और नीरव मोदी जैसे आर्थिक अपराधियों की धरपकड़ के लिए जी-20 सदस्य देशों की बैठक में नौ-सूत्री एजेंडा रखा. इस एजेंडे में कहा गया है कि घोटाला किए गए धन को प्रभावी तरीके से फ्रीज़ करना, अपराधियों को उनके देश में जल्दी से जल्दी प्रत्यर्पित करने और घोटाले की राशि को रिकवर करने के लिए सहयोग बढ़ाने की जरूरी है.

पीएम मोदी ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय व टैक्स सिस्टम के दूसरे सेशन के वक्त यह एजेंडा पेश किया. इसमें आगे कहा गया है कि यूनाइटेड नेशंस कनवेंशन अगेंस्ट करप्शन (यूएनसीएसी) और यूनाइटेड नेशंस कनवेंशन अगेंस्ट ट्रांजेक्शनल ऑर्गेनाइज़्ड क्राइम (यूएनओटीसी) से संबंधित अंतरराष्ट्रीय सहयोग को फिर से प्रभावी तरीके से लागू किया जाए. भारत ने आर्थिक अपराधियों के जी-20 देशों में प्रवेश और सुरक्षा दिए जाने से मना करने पर भी मकैनिज़म बनाने पर ज़ोर दिया.

भारत ने सुझाव दिया कि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) को कहा जाना चाहिए कि अंतरराष्ट्रीय मामलों मे सहयोग बढ़ाने के लिए व सूचनाओं के आदान प्रदान करने की दिशा में प्राथमिकता के तौर पर काम करे.

अधिक विदेश की खबरें