कुरैशी ने कश्मीर मुद्दे पर विपक्ष से किया एकजुट होने का आह्वान
कुरैशी ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान 14 अगस्त को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का दौरा करेंगे और उसकी विधानसभा को संबोधित भी करेंगे।


इस्लामाबाद : पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सोमवार को विपक्षी दलों से कश्मीर मुद्दे पर एकजुट होने काआह्वान किया और कहा कि इस मसले पर देश का रुख समान होना चाहिए।

समाचार पत्र डॉन के मुताबिक, कुरैशी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर स्थित मुजफ्फराबाद में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने वहां ईद उल अजहा भी मनाया और एक शरणार्थी शिविर भी गए। 


उन्होंने कहा कि पूरा ‘‘पाकिस्तान और देश का राजनीतिक नेतृत्व कश्मीर के मुद्दे पर एकजुट है और कश्मीरियों के समर्थन में 14 अगस्त को एक आवाज उठेगी।विदित हो कि पाकिस्तान ने जम्मू एवं कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद कश्मीरियों के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाने का ऐलान किया है।

कुरैशी ने पाकिस्तान में राजनीतिक दलों के बीच कश्मीर पर एकजुटता का आह्वान किया और चेतावनी दी कि मुद्दे पर राजनीति करने से नुकसान हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे बीच मतभेद हैं, लेकिन कश्मीर मुद्दे पर कोई मतभेद नहीं है। यदि कोई मतभेद होता, एक संयुक्त प्रस्ताव नहीं पारित किया गया होता।’’ 

पिछले सप्ताह संसद की एक संयुक्त बैठक में भारत के खिलाफ प्रस्ताव की भाषा को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच मतभेद उत्पन्न हो गए थे।

कुरैशी ने कहा कि कश्मीर का विशेष दर्जा ‘‘एकतरफा’’ समाप्त करने से कश्मीरियों के पास इसके खिलाफ खड़े होने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।हालांकि भारत ने कहा है कि संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर खंडों को समाप्त करना उसका आंतरिक मामला है। 

गिलगिट औरबाल्टिस्तान को प्रांत का दर्जा देने के बारे में एक सवाल पर कुरैशी ने कहा कि ऐसा करने से कश्मीर के उद्देश्य और पाकिस्तान के रुख को नुकसान होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘इस पर कैबिनेट में चर्चा की गई थी, क्योंकि इसकी काफी मांग उठी है। लेकिन हम ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे जिससे कश्मीर पर हमारी कानूनी स्थिति को नुकसान पहुंचे।’’ 

कुरैशी ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान 14 अगस्त को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का दौरा करेंगे और उसकी विधानसभा को संबोधित भी करेंगे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ले जाने का निर्णय किया है और चीन ने इस उद्देश्य के लिए पूरा समर्थन देने का भरोसा दिया है।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने भी कश्मीरियों के साथ ‘‘एकजुटता’’ दिखाने के लिए ईद उल अजहा मुजफ्फराबाद में मनाया।

अधिक विदेश की खबरें