अमेरिका का ऐलान : चीन पर लगाए आरोप हो सकता है शीत  युद्ध
अमेरिका ने माना है कि दोनों बड़ी शक्तियां अपने हितों की उचित तरीके से रक्षा करने के लिए आमने-सामने हैं।


अमेरिका और चीन के बाजारों को लेकर पिछले कुछ समय से हुई तकरार के बाद मामला अब इतना बढ़ चुका है की बात अब शीत युद्ध पर आ पहुंची है, अमेरिका ने चीन को लेकर एक विजन डॉक्यूमेंट जारी किया है जिसमें चीन को लेकर अमेरिका ने उस पर कायदे और कानून पर आधारित वैश्विक व्यवस्था का दुरुपयोग कर उसे चीनी कम्युनिस्ट पार्टी  की विचारधारा और हितों के अनुकूल बनाने का आरोप लगाया है।


साथ ही अमेरिका ने उसको मिल रही चुनौतियों का सीधा जवाब देने का फैसला कर लिया है जिसकी वह घोषणा कर चुके हैं।

क्या है जारी हुए विज़न डॉक्यूमेंट में ?
अमेरिका ने चीन को लेकर जो वजन जारी किया है उसका नाम है 'यूनाइडेट स्टेट स्ट्रेटेजिक एप्रोच टू द पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना' इस डॉक्यूमेंट को अमेरिका के वाइट हाउस में जारी किया गया है।

आपको बता दें कि वैसे तो इस डॉक्यूमेंट में कहीं पर भी शीत युद्ध की बात नहीं करी गई है नाही शीत युद्ध की कोई घोषणा या फिर उसका जिक्र नहीं किया गया है। लेकिन मकसद अमेरिका का बिल्कुल साफ है।


अमेरिका ने माना है कि दोनों बड़ी शक्तियां अपने हितों की उचित तरीके से रक्षा करने के लिए आमने-सामने हैं। अमेरिका ने सीसीपी से मिल रही प्रत्यक्ष चुनौतियों का जवाब देने का एलान किया है।

40 साल के बाद यह प्रमाणित हो गया है कि अमेरिका चीन के आर्थिक और राजनीतिक सुधार की उम्मीद को खत्म करने की भावना को नहीं समझ पाया। 

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)


अधिक विदेश की खबरें