ट्रंप का आदेश: भारत के बाद अमेरिका में भी 'TikTok' बैन
file photo


अमेरिका ने टिकटॉक ऐप को खतरा बताते हुए बैन लगाने का आदेश दिय़ा है। बताया जा रहा है कि इस आदेश में कहा गया है कि 45 दिन के दौरान अमेरिकी क्षेत्राधिकार के अधीन बाइटडांस के साथ कोई भी लेन-देन नहीं किया जाएगा. 

अमेरिका ने भारतीय कार्रवाई का हवाला देते हुए आदेश में कहा, 'भारत सरकार ने हाल ही में पूरे देश में TikTok और अन्य चीनी मोबाइल ऐप के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है. भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि वे डाटा चोरी कर रहे थे और उपयोगकर्ताओं के डेटा को अनधिकृत तरीके से उन सर्वरों में प्रसारित कर रहे थे जिनके भारत के बाहर के सर्वर हैं.'

गलवान की घटना के कुछ दिनों बाद 29 जून को भारत ने TikTok सहित 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था. जिसके बाद बैन ऐप की सूची को और बढ़ा दिया गया है. 15 जून को भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच हिंसक सामना हुआ जिसमें 20 भारतीय सैनिकों की मौत हो गई. इस झड़प में चीन के सैनिक भी जख्मी हुए थे. तब से भारत ने चीन पर डिजिटल स्ट्राइक करते हुए चीनी कंपनियों पर कार्रवाई किया है. यूएस डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी, ट्रांसपोर्टेशन सिक्योरिटी एडमिनिस्ट्रेशन और यूनाइटेड स्टेट्स आर्म्ड फोर्सेज ने पहले ही फेडरल गवर्नमेंट फोन्स पर TikTok के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है.

अमेरिकी सरकार के आदेश में यह भी कहा गया है कि, 'टिकटॉक ऑटोमैटिकली यूजर्स की जानकारी जमा करता है. इसमें इंटरनेट और अन्य नेटवर्क की जानकारियां भी शामिल होती हैं. जैसे- लोकेशन डाटा, ब्राउजिंग और सर्च हिस्ट्री. इस डेटा को जमा कर चीन की कम्युनिस्ट पार्टी अमेरिकी लोगों को धमका सकती हैं और उसका दुरुपयोग कर सकती है.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक विदेश की खबरें