परमाणु हथियारों कोबढ़ाएगा अमेरिका, रूस के इस प्रस्ताव को नकारा !
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन


वॉशिंगटन : अमेरिका ने रूस के ऐसे प्रस्ताव को नकार दिया है, जिसमें दोनों देशों के बीच परमाणु हथियारों को न बढ़ाने की संधि है. गौरतलब है कुछ समय पहले ये संधि खत्म हो गई थी, जिसके बाद माना जा रहा था कि दुनिया से इन दोनों सुपर पावर्स के बीच परमाणु हथियारों को बढ़ाने की होड़ मच सकती है.

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ओ ब्रायन ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन एक साल के लिए न्यू स्टार्ट समझौते को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था. लेकिन ट्रंप प्रशासन ने इसे अस्वीकार कर दिया है. ओ ब्रायन ने कहा कि अमेरिका परमाणु हथियारों पर सख्ती से रोक लगाने का पक्षधर है. रूस को अपने प्रस्ताव पर फिर से विचार करने की जरूरत है.

न्यू स्टार्ट समझौता अगले साल फरवरी में खत्म होगा
अगले साल फरवरी में New START (Strategic Arms Reduction Treaty) खत्म होने वाली है, जिसपर साल 2010 में समझौता हुआ था. रूस के विदेश मंत्री लेवरोव ने रूस के प्रस्ताव को पेश किया था. उन्होंने कहा कि रूस के राष्ट्रपति आगे की बातचीत से पहले कोई पूर्व शर्त नहीं रखना चाहते हैं. ताकि भविष्य की बातचीत में कोई दिक्कत न आए.

अमेरिका की ओर से प्रस्ताव को नकारने से पहले अमेरिका की तरफ से बातचीत में शामिल मार्शल बिलिंग्सली ने कहा था कि दोनों देश  'जेंटलमैन एग्रीमेंट'  पर पहुंच गए थे. हालांकि इसके बाद रूस ने ये कहकर शर्तों में बदलाव करने की मांग की थी कि समझौते के विस्तार से पहले हथियारों पर रोक की पूर्व शर्त हटाई जाए. इसी मुद्दे पर अमेरिका ने प्रस्ताव से हाथ पीछे खींच लिए.



अधिक विदेश की खबरें