वर्ष 2117 तक मंगल पर बसेगा पहला शहर
वर्ष 2117 तक मंगल पर बसेगा पहला शहर


दुबई: संयुक्त अरब अमीरात ने प्रदूषण रहित मसदर हाई टेक शहर के बाद मंगल की ओर रुख करने की योजना बनाई है। मसदर शहर पूरी तरह प्रदूषणमुक्त है। 
अब यूएई ने मंगल ग्रह पर साल 2117 तक पहला शहर बसाने की योजना पेश की है। अगले कुछ दशकों में वह लोगों को इस लाल ग्रह की सैर भी कराना चाहता है।
 यूएई के उप राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री तथा दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम और अबू धाबी के शहजादे एवं यूएई के उप सुप्रीम कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने आज 100 साल की इस राष्ट्रीय परियोजना के बारे में ऐलान किया। यूएई की सरकार इस महत्वाकांक्षी परियोजना में विशेषज्ञ अंतरराष्ट्रीय संगठनों और वैज्ञानिक संस्थानों का सहयोग लेगी। इस अमीर खाड़ी देश ने राष्ट्रीय कैडर तैयार करने की योजना बनाई है जो अगले कुछ दशकों में लोगों को मंगल पर ले जाने में वैज्ञानिक सफलता हासिल कर सकते हैं। दुबई में विश्व सरकार शिखर सम्मेलन से इतर इस महत्वपूर्ण परियोजना का ऐलान किया गया। 
इस सम्मेलन में 138 सरकारों, छह प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठनों तथा प्रौद्योगिकी कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद थे। शेख मोहम्मद बिन राशिद ने कहा, दूसरे ग्रहों पर कदम रखना इंसानों का पुराना ख्वाब रहा है। हमारा मकसद यह है कि यूएई इस ख्वाब को हकीकत में बदलने के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रयासों को मजबूती दे। गौरतलब है कि भारत ने अपने मार्स मिशन के तहत मंगलयान भेजा था। मंगलयान इस वक्त धरती से 20 करोड़ किलोमीटर दूर है और एकदम ठीक अवस्था में है।
 इसे  बनाने वाले इसरो संस्थान का कहना है कि 450 करोड़ के इस मिशन को अभी मार्स का चक्कर  लगाते 15 महीने ही हुए हैं लेकिन यह कम से कम दस और नए साल का गवाह बन सकता है।

अधिक विदेश की खबरें