US में फिर 'वापस अपने देश जाओ' चीखा और सिख को मार दी गोली
डॉनल्ड ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से एशियाई और पश्चिमी एशियाई देशों के नागरिकों के साथ हिंसा का मामला बढ़ता जा रहा है।


वॉशिंगटन : अमेरिका में भारतीयों के खिलाफ हेट क्राइम का मामला बढ़ता ही जा रहा है। यहां एक सिख को मास्क पहने एक गनमैन ने 'वापस अपने देश जाओ' चीखने के बाद गोली मारकर घायल कर दिया। पिछले कुछ दिनों यूएस में भारतीयों के खिलाफ हेट क्राइम का तीसरा मामला है।

39 वर्षीय सिख युवक दीप राय के साथ यह वारदात शुक्रवार को उस समय हुई जब वह वॉशिंगटन के केंट स्थित अपने घर के बाहर कार की मरम्मत कर रहे थे। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि मास्क पहने एक आदमी आया और बहस करने लगा। उसने 'वापस अपने देश जाओ' चीखने के बाद हाथ में गोली मार दी।

भारतीय दूतावास की सूचना के अनुसार पीड़ित की पहचान 39 वर्षीय सिख युवक दीप राय के तौर पर हुई है। पीड़ित अब स्वस्थ है और बातचीत में सक्षम है। उसने बताया कि आरोपी 6 फिट लंबा श्वेत नागरिक था और उसने चेहरे के ऊपरी हिस्से पर मास्क पहन रखा था। स्थानीय सिख नेता ने बताया कि पीड़ित को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है लेकिन वह और उसके परिजन काफी डरे हुए हैं।

पुलिस इस मामले को 'हेट क्राइम' मानते हुए FBI और अन्य एजेंसियों के पास लेकर गई है। सैन फ्रांसिस्को में भारत के काउन्सलेट जनरल, घटना की जांच कर रहे स्थानीय अधिकारियों के संपर्क में बने हुए हैं।

पिछले 2 सप्ताह के अंदर दो भारतीयों की हत्या का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा कि अमेरिका में बढ़ते हेट क्राइम का एक और मामला सामने आ गया। पिछले महीने की 22 फरवरी को कैंजस में तेलंगाना के रहने वाले इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोतला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उनकी हत्या के आरोपी अमेरिकी नेवी से जुड़े 51 वर्षीय शख्स ने गोली मारने से पहले 'मेरे देश से बाहर निकलो' चीखा था।

इसके बाद हुआ दूसरा मामला इसी सप्ताह साउथ कैरोलिना में हुआ। गुरुवार को बिजनसमैन हर्निष पटेल की हत्या उस वक्त कर दी गई जब वह अपनी दुकान बंद कर घर लौट रहे थे।

डॉनल्ड ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से एशियाई और पश्चिमी एशियाई देशों के नागरिकों के साथ हिंसा का मामला बढ़ता जा रहा है।

सिख को गोली मारने की घटना पर केंट पुलिस चीफ केन थॉमस ने कहा, 'उन पर हुआ हमला जानलेवा नहीं है और वह अब स्वस्थ हैं। हम इस घटना को बहुत गंभीर मान रहे हैं। हम वारदात की जांच कर रहे हैं।'

वहीं केंट पुलिस कमांडर जारोड कासनर ने कहा, 'पूरे देश में हुई हालिया घटनाओं से अस्थिरता का माहौल है। इससे लोग भावुक तौर पर जुड़ सकते हैं। विशेषकर तब जब अपराध इस बात पर टिका हो कि कोई व्यक्ति कैसे रहता है और कैसा दिखता है।'

सिख समुदाय के स्थानीय नेता जसमीत सिंह ने कहा, 'पीड़ित और उनका परिवार घटना के बाद से डरे हुए हैं। नफरत का यह जो माहौल बना हुआ है, वह किसी के बीच फर्क नहीं करेगा। दूसरे देशों के लोगों के प्रति नफरत और पूर्वाग्रह का जैसा माहौल दिख रहा है, ऐसा हमने हालिया पिछले दिनों में नहीं देखा।'

उन्होंने कहा कि सिख समुदाय को जिस तरह से निशाना बनाया जा रहा है वह 9/11 आतंकी हमलों के बाद हुई घटनाओं की याद दिला रही है। लेकिन मुझे भरोसा है कि ट्रंप प्रशासन, इस तरह की घटनाओं से निपटने के लिए काम कर रहा है।

इंडो-अमेरिकन डेमोक्रेटिक ऑर्गनाइजेशन, इंडिया सिविल वॉच तथा अधिकारों के लिए काम करने वाले अन्य समूहों ने हेट क्राइम की निंदा करते हुए इन घटनाओं से नहीं डरने की अपील की है।

अधिक विदेश की खबरें