भारत से 3 गुना अधिक चीन ने पेश किया रक्षा बजट
चीन ने इस साल अपने रक्षा बजट में 7 फीसद की वृद्धि की खबर की पुष्टि करते हुए रविवार को वार्षिक रक्षा बजट पेश कर दिया।


पेइचिंग : चीन ने इस साल अपने रक्षा बजट में 7 फीसद की वृद्धि की खबर की पुष्टि करते हुए रविवार को वार्षिक रक्षा बजट पेश कर दिया। पिछले कुछ वर्षों के दौरान चीन के रक्षा बजट में यह न्यूनतम वृद्धि है, फिर भी 151 अरब डॉलर का यह बजट भारत से तीन गुना अधिक है।

सरकार द्वारा वर्क रिपोर्ट रिलिज करने के कुछ ही घंटों के बाद देश के वित्त मंत्रालय ने वर्ष के रक्षा बजट की आधिकारिक तौर पर घोषणा कर दी। एक चीनी अधिकारी ने गुप्तता की शर्त पर रक्षा बजट के 151 अरब डॉलर होने की जानकारी दी। जो कि पिछले वर्ष जारी हुए 146 अरब डॉलर के वार्षिक रक्षा बजट आवंटन में 7 फीसदी वृद्धि है। चीन की तुलना में भारत का रक्षा बजट 53 अरब डॉलर या 3.6 लाख करोड़ रुपये, यानी 3 गुना कम है।

दुनिया की सबसे बड़ी सेना होने के बावजूद चीन का रक्षा बजट अमेरिका सेस काफी कम है। अमेरिका ने पिछले वित्त वर्ष में 598 अरब डॉलर का रक्षा बजट पेश किया था। हालांकि पहले आई रिपोर्ट्स के अनुसार साम्यवादी देश चीन इस क्षेत्र में 'अतिरिक्त खर्च' को गुप्त रखता है। इस वजह से चीन का वास्तविक बजट, आधिकारिक से कई गुना अधिक हो सकता है।

चीन पिछले 10-15 सालों से रक्षा बजट और सेना के आधुनिकीकरण पर जमकर पैसा खर्च करता आ रहा है। 2010 के बाद पहली बार 2016 में चीन ने रक्षा बजट में 10 फीसद से कम की वृद्धि की। चीन ने अपने आर्थिक विकास के साथ-साथ सैन्य क्षमता बढ़ाने पर भी काफी ध्यान दिया है।

दक्षिणी चीन सागर क्षेत्र पर चीन के अधिकार को लेकर चल रहे अंतरराष्ट्रीय विवाद और अमेरिका के साथ संभावित टकराव के मद्देनजर चीन अपनी सैन्य क्षमता को और बढ़ा रहा है। रक्षा बजट भी ऐसा ही इशारा कर रहा है।

इसके पहले दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन ने 2017 के लिए सकल घरेलू उत्पाद (GDP) वृद्धि दर के लक्ष्य को घटाकर 6.5 प्रतिशत कर दिया है, जो पिछले 25 सालों में सबसे कम है।

अधिक विदेश की खबरें