नवाज शरीफ ने यूएन में बुरहान वानी को बताया कश्मीर की आवाज
संयुक्त राष्ट्र आम सभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपना संबोधन में कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत को जमकर कोसा।


न्यूयॉर्क : संयुक्त राष्ट्र आम सभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा। नवाज ने कहा कि कश्मीर मुद्दा सुलझाए बिना भारत से रिश्ते नहीं सुधर सकते हैं। भारत कश्मीर में मानवाधिकार का हनन कर रहा है और इसकी जांच होनी चाहिए। नवाज ने कहा, पाकिस्तान के लिए कश्मीर मुद्दा नहीं मिशन है। बुधवार रात को संयुक्त राष्ट्र आम सभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपना संबोधन पाकिस्तान को आतंकवाद से सबसे अधिक पीड़ित देश बताकर शुरू किया और उसके बाद कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत को जमकर कोसा। 

शरीफ ने हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी को कश्मीर की आवाज बताते हुए कहा कि कश्मीर मुद्दा सुलझाए बिना भारत-पाक के संबंध अच्छे नहीं हो सकते। शरीफ ने अपने भाषण में NSG (न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप) का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एनएसजी सदस्यता के लिए पूरी तरह योग्य हैं. हम न्यूक्लियर टेस्ट बैन ट्रीटी पर बात करने के लिए भी तैयार हैं. शरीफ ने पाकिस्तान को जिम्मेदार परमाणु देश बताया और कहा कि हमारे पड़ोसी देश लगातार हथियार बढ़ाए जा रहे हैं।शरीफ ने कहा कि उनका देश भारत के साथ बातचीत करना चाहता है और बातचीत में ही दोनों देशों का हित भी है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में भारतीय सेना लोगों से बर्बरता कर रही है। 

मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। कश्मीर में कर्फ्यू खत्म किया जाए और सभी राजनीतिक कैदियों की रिहाई हो। नवाज ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर में भारतीय सेना की बर्बरता को लेकर संयुक्त राष्ट्र को डोजियर सौंपेंगा। उन्होंने कश्मीर से सेना हटाने की मांग की और कहा कि लोगों की राय जानने के लिए जनमत संग्रह कराया जाए। शरीफ ने कहा, 'कश्मीर की जनता आजादी की मांग कर रही है। पाकिस्तान उनकी इस मांग का समर्थन करता है। हम कश्मीर में लोगों की 

हत्याओं की स्वतंत्र जांच की मांग करते हैं।' उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र भारत से कहे कि वह कश्मीर पर अपना वादा पूरा करे। उन्होंने आरोप लगाया कि भारत ने बातचीत करने से पहले अस्वीकार्य शर्तों को रखा। जबकि बातचीत दोनों देशों की रुचि के हिसाब से होनी चाहिए। पाक पीएम ने अपने संबोधन में हिजबुल कमांडर बुरहान वानी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, 'बुरहान वानी, जो एक युवा नेता था उसे भारतीय सेना ने मार डाला। बुहरान कश्मीर की आवाज है। कश्मीर की नई पीढ़ी आजादी की मांग कर रही है।'

भारत पर बातचीत से पहले अस्वीकार्य शर्तें थोपने के नवाज के आरोप के जवाब में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, 'भारत की एक ही शर्त है कि आतंकवाद को खत्म किया जाया। क्या ये स्वीकार्य नहीं है? विकास स्वरूप ने कहा, 'नवाज शरीफ ने यूएन की सबसे बड़ी फोरम में हिजबुल आतंकी बुरहान वानी का महिमामंडन किया। इससे पता चलता है कि आतंकवाद से पाकिस्तान का जुड़ाव कम नहीं हुआ है।'

अधिक विदेश की खबरें

पाक सेना के टॉप ऑफिसर्स के साथ इमरान खान की हाईलेवल मीटिंग, भारत से लगी पूर्वी सीमा का हुआ जिक्र..

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना, वायुसेना और नौसेना के शीर्ष अधिकारियों के साथ देश के ......