टैग:congress#rahulgandhi#priyankagandhi#loksabhacgunav#2019#
पूर्वांचल में कांग्रेस का दांव हुआ उल्टा
jpg


पूर्वांचल में कांग्रेस का दांव हुआ उल्टा

 देश में लोकसभा चुनाव सिर पर आ चुके हैं. सभी पार्टियों ने अपने प्रत्याशियो को मैदान में उतार दिया है. तो वहीं कांग्रेस ने भी अपने पत्ते खोलने शुरु कर दिये है. लेकिन इस वक्त कांग्रेस ने जिन लोगों पर भरोसा जताकर अपना प्रत्याशी चुना है वो बहुत ही कमजोर हैं और ये बात हम नहीं कह रहे बल्कि एक वरिष्ट कांग्रेस नेता का छलकता दर्द खुद इस बात की तस्दीक कर रहा है. इन जनाब का नाम है साजिद खान आजमी आजमगढ़ के कौरा गहनी ग्राम सभा के रहने वाले साजिद खान करीब तीन दशकों   कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं. इस बार कांग्रेस ने आजमगढ़ के लाल गंज की सुरक्षित सीट से पंकज मोहन सोनकर को अपना प्रत्याशी घोषित किया है. लेकिन उस प्रत्याशी से जिले भर के सभी कांग्रेसी नाराज हैं. कार्यकर्ताओं का आरोप है कि जिलाध्यक्ष की शय पर नए नबेले कार्यकर्ता को जल्दबाजी में लोकसभा का टिकट दे दिया गया. जिसे चुनाव लड़ने या राजनीति करने का कोई तजुर्बा नहीं है. 

हल्ला बोल से बात करते वक्त साजिद खान आजमी का ये दर्द छलक गया. उन्हें इस बात की तकलीफ है कि पार्टी ने बिना राय लिये ही प्रत्याशी घोषित कर दिया. लेकिन ये कोई पहला मामला नहीं जब इस तरह की तस्वीरें सामने आ रही है. बल्कि इससे पहले लखनऊ में मौजूद कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय के बाहर भी जमकर हंगामा हो चुका है. यहां संतकबीरनगर से आई करीब # था और जिलाध्यक्ष पर आरोप लगाया कि उन्होने पैसा लेकर ऐसे शख्स को प्रत्याशी बना दिया जो ग्राम प्रधान का चुनाव भी नहीं जीत सकता है. बावजूद इसके उसे लोकसभा भेजने का फैसला कर लिया गया. ये वो कुछ ऐसी बातें हैं जिन्हें कांग्रेस को संजीदगी से लेना चाहिये वरना इसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ सकता है.


अधिक लोकसभा चुनाव 2019 की खबरें