दिल्ली की सड़कों का हाल बेहाल, ग्रेटर कैलाश मेट्रो स्टेशन के बाहर धंसी सड़क
नवनिर्मित ग्रेटर कैलाश मेट्रो स्टेशन के बाहर शुक्रवार सुबह सड़क धंस गई, जिसके चलते दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) को तुरंत उचित कदम उठाना पड़ा. मैजेंटा लाइन पर पड़ने वाला स्टेशन दक्षिणी दिल्ली के इलाकों को नोएडा और पश्चिमी दिल्ली से जोड़ता है. डीएमआरसी के प्रवक्ता अनुज दयाल ने कहा, "ग्रेटर कैलाश मेट्रो स्टेशन के बाहर एक फुटपाथ का एक हिस्सा भारी बारिश और जल भराव के कारण धंस गया. यह निचला इलाका है, जहां अक्सर जल निकासी संबंधी समस्या होती रहती है." उन्होंने कहा, "मरम्मत कार्य प्रगति पर है और प्रभावित क्षेत्र कल (शनिवार) सुबह पूरी तरह से बहाल हो जाएगा. हालांकि, मेट्रो सेवाएं सामान्य रूप से बॉटनिकल गार्डन से जनकपुरी वेस्ट मैजेंटा लाइन पर संचालित हो रही हैं." अनुज ने कहा कि डीएमआरसी अब भविष्य में इस तरह की समस्या की पुनरावृत्ति से बचने के लिए सड़क के नीचे अतिरिक्त कंक्रीट भर रहा है. बता दें, दिल्ली की सड़कों को लेकर मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आतंकवादियों के हमलों से ज्यादा लोग सड़कों पर बने गड्ढों में गिरकर मरते हैं. कोर्ट ने ऐसी घटनाओं पर निराशा जताई और कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है. इस बाबत सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को समन जारी किया है. कोर्ट ने पुलिस कमिश्नर से पूछा कि सड़कों पर अवैध अतिक्रमण को हटाने में 2 साल का समय क्यों लगेगा ? इस मामले की अगली सुनवाई 10 दिनों बाद होगी. इस मामले में पुलिस महकमे की तरफ से कहा गया कि दिल्ली की सड़कों पर अवैध अतिक्रमण के लिए पुलिस कमिश्नर जिम्मेदार नहीं हैं. इस दलील पर कोर्ट ने कहा कि अगर आप चाहते हैं तो दिल्ली के LG (उप-राज्यपाल) समेत उस क्लर्क को भी कोर्ट बुला सकते हैं जो इस मामले से जुड़ी फाइलों को एक टेबल से दूसरे टेबल पर ले जाने का काम करते हैं.

8 hours old

तमिलनाडु के CM ने राहत एवं पुनर्वास के लिए मांगे 1000 करोड़ रुपये
 दिल्ली सरकार ने शुरू किया 10 रैन बसेरों में मुफ्त भोजन देना
बैंगलुरु में 5.70 करोड़ मूल्य के नए नोट जब्त, ऑपरेटर हवाला गिरफ्तार