घर बनाने को मिला पैसा घरवाली खोजने में कर दिया खर्च
मामला अधिकारियों की नजर में तब आया जब अधिकारी स्वच्छ शौचालय और आवास योजना की समीक्षा बैठक कर रहे थे।


भोपाल : मध्य प्रदेश के शिवपुर जिले में एक दिलचस्प मामला आया है। यहां के सहरिया जाति के एक शख्स ने प्रधानमंत्री आवास योजना से फंड लिया और घर बनाने की जगह घरवाली ढूंढने लगा। 

दरअसल शंकर ने प्रधानमंत्री आवास योजना से घर बनाने के लिए फंड स्वीकृत कराया था। उसके अकाउंट में स्कीम की पहली किश्त बैंक ने भेज भी दी। पहली किश्त मिलते ही शंकर अचानक गायब हो गया। 

मामला अधिकारियों की नजर में तब आया जब अधिकारी स्वच्छ शौचालय और आवास योजना की समीक्षा बैठक कर रहे थे। खिरखिरी पंचायत के सचिव राजेंद्र गुर्जर शंकर से जाकर मिले। 

उन्होंने शंकर से बात की तो उसने कहा कि उसे घर के लिए घरवाली की जरूरत है। घरवाली से ही उसका घर पूरा होगा। उसने पहली किश्त की रकम घरवाली ढूंढने पर खर्च कर दी है। यह सुनकर अधिकारी वहां से वापस आए। 

अधिकारी ने बताया कि वह शंकर के गांव जाकर उससे मिले। उसके जवाब ने उन्हें अचंभित कर दिया। उन्हें गुस्सा भी आ रहा था और हंसी भी आ रही थी। गुस्सा बहुत था लेकिन हंसी गुस्से पर हावी हो रही थी। 


अधिक देश की खबरें