काठमांडू एयरपोर्ट पर विमान हुआ दुर्घटनाग्रस्त, 50 लोगों की मौत
गौरतलब है कि बीते कुछ वर्षों में नेपाल में इस तरह की कई दुर्घटनाएं सामने आई हैं.


नई दिल्ली : यूएस-बांग्ला एयरलाइन का एक विमान सोमवार को नेपाल के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (टीआईए) पर उतरने के बाद रनवे से फिसलकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई. बोम्बार्डियर डैश 8 क्यू-400 विमान में 67 यात्री और चालक दल के चार सदस्य सवार थे. काठमांडो पोस्ट ने टीआईए प्रवक्ता प्रेमनाथ ठाकुर के हवाले से बताया कि विमान उतरते समय रनवे पर लड़खड़ा गया और इसमें आग लग गई तथा यह हवाईअड्डे के पास एक फुटबॉल मैदान में जाकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

टीआईए प्रवक्ता प्रेमनाथ ठाकुर ने बताया कि विमान उतरते समय रनवे पर लड़खड़ा गया और इसमें आग लग गई तथा यह हवाईअड्डे के पास एक फुटबाल मैदान में जाकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. ‘माई रिपब्लिका’ ने टीआईए के महाप्रबंधक राज कुमार छेत्री के हवाले से बताया, ‘‘हादसे में 50 से अधिक लोगों के मारे जाने की आशंका है. हम राहत एवं बचाव अभियान चला रहे है.’’

हादसे में 20 से अधिक लोग घायल हुए जिन्हे इलाज के लिए काठमांडो मेडिकल कॉलेज ले जाया गया जिसमें से सात को अस्पताल में मृत लाया गया. शेष घायलों का इलाज चल रहा है.

विमान, यूबीजी211, ढाका (बांग्लादेश) से काठमांडो आ रहा था. विमान ने ढाका से उड़ान भरी थी और यह अपराह्न दो बजकर 20 मिनट (स्थानीय समय) पर हवाई अड्डे पर उतरा.

फुटबाल मैदान से काले धुएं की लपटें उठती हुई देखी जा सकती थी. हिमालयन टाइम्स ने हवाई अड्डे के एक अधिकारी के हवाले से बताया, ‘‘विमान रनवे पर फिसल गया और उसमें तुरन्त आग लग गई.’’ अधिकारियों ने हालांकि बताया कि दुर्घटना का कारण तकनीकी गड़बड़ी भी हो सकता है.

‘काठमांडो पोस्ट’ ने नेपाली नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के महानिदेशक संजीव गौतम के हवाले से बताया, ‘‘विमान को रनवे के दक्षिण की ओर उतरने की अनुमति दी गई थी लेकिन यह उत्तर की ओर उतरा.’’ उन्होंने बताया कि रनवे पर उतरने के प्रयास में विमान ने संतुलन खो दिया.

गौतम ने कहा, ‘‘हम इस असमान्य लैंडिंग के पीछे कारण का पता लगा रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि इस हादसे का कारण तकनीकी गड़बड़ी भी हो सकता है. अधिकारियों ने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है और राहत एवं बचाव अभियान जारी है.

'माई रिपब्लिका' की रिपोर्ट के अनुसार, घटना की तस्वीरों व वीडियो में हवाईअड्डे के रनवे पर अत्यधिक धुआं उठता नजर आ रहा था. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विमान रनवे पर मुड़ने के दौरान हादसे का शिकार हो गया. हादसे में बाल-बाल बचे एक नेपाली ट्रेवल एजेंट बसांता बोहोरा ने अस्पताल में काठमांडू पोस्ट को बताया, "अचानक विमान तेज गति से हिलने लगा और चीख-पुकार मच गई. मैं खिड़की के नजदीक बैठा था और खिड़की तोड़ने में सफल रहा। मैं सौभाग्यशाली हूं कि मैं बच गया."

नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. ओली ने मृतकों के प्रति अपनी संवेदनाएं पेश करते हुए कहा, "मैं दुर्घटना की खबर सुनकर बेहद दुखी हूं." उन्होंने घटना की तत्काल सरकारी जांच करवाने के आदेश दिए.


गौरतलब है कि बीते कुछ वर्षों में नेपाल में इस तरह की कई दुर्घटनाएं सामने आई हैं. इससे पहले वर्ष 2016 में दो इंजन वाला एयरक्राफ्ट पहाड़ के हिस्से से टकरा गया था. इस घटना में 23 यात्रियों की मौत हो गई थी. दो दिन पहले ही नेपाल में लैंडिंग के दौरान एक छोटा प्लेन क्रैश हो गया था जिसमें दो पायलटों की मौत गई. 


अधिक देश की खबरें