कर्नाटक में बीजेपी JAI-JAI, PM मोदी की 21 रैलियां बनी गेमचेंजर
कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी अपने दम पर सरकार बनाती हुई दिख रही है.


नई दिल्ली : कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अपने दम पर सरकार बनाती हुई दिख रही है. चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आमने-सामने थे. दोनों ही तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ा गया, लेकिन जीत अंतत: बीजेपी को मिलती दिख रही है. चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में पीएम मोदी ने मोर्चा संभाला और धुआंधार रैलियां की, जो बीजेपी के लिए गेमचेंजर साबित हुईं.

पहले से तय कार्यक्रम के मुताबिक कर्नाटक में पीएम मोदी को कुल 15 रैली करनी थी, लेकिन प्रचार के दौरान ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के कहने पर इसकी संख्या 21 कर दी गई थी. रुझानों की अगर बात करें तो पीएम मोदी रैली में जुटी भीड़ को वोट में तब्दील करने में काफी हद तक सफल रहे.

पीएम मोदी ने की 21 धुआंधार रैलियां
बीजेपी को कर्नाटक विधानसभा चुनाव जिताने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोई कसर नहीं छोड़ी. पीएम मोदी एक मई को कर्नाटक पहुंचे. पहले से 15 रैलियां प्रस्‍तावित थीं, लेकिन मोदी ने अपनी प्रस्‍तावित रैलियों से छह अधिक रैलियां की. मोदी ने जहां-जहां रैलियां कीं, उनका प्रभाव 169 सीटों पर है. मंगलवार को आ रहे चुनाव परिणामों के रुझानों के अनुसार इन 169 सीटों में से करीब 70 सीटों पर बीजेपी की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है.

वहीं, कर्नाटक चुनाव में बीजेपी ने सभी कद्द्वार नेता को मैदान में उतारा था. उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को भी बीजेपी ने कर्नाटक में चुनाव प्रचार के लिए भेजा था. बीजेपी के सभी बड़े चेहरों ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जीत के लिए अपनी ताकत झोंक दी.

कर्नाटक विधानसभा की 224 सीटों में से 222 सीटों के लिए 12 मई को हुई वोटिंग के नतीजे आना शुरू हो गए हैं. शुरुआती रुझानों में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली थी. लेकिन जैसे-जैसे नतीजे आने लगे बीजेपी ने कांग्रेस को पछाड़कर 100 सीटों का आकंड़ा छू लिया. जबकि कांग्रेस का प्रदर्शन पिछले चुनाव की तुलना में बेहतर नहीं रहा. 


अधिक देश की खबरें