मरीना बीच पर होगा करुणानिधि का अंतिम संस्कार, हाईकोर्ट का फैसला सुन भावुक हुए स्टालिन
File Photo


चेन्नई, तमिलनाडु के पूर्व मुख्‍यमंत्री और डीएमके प्रमुख एम. करुणानिधि का अंतिम संस्‍कार चेन्नई के प्रसिद्ध मरीना बीच पर ही होगा. मद्रास हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ने इसका इजाजत दे दी है. हाईकोर्ट का यह फैसला सुनते ही राजाजी हॉल के बाहर जमे हजारों डीएमके में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, वहीं करुणानिधि के बेटे और उनके सियासी वारिस स्टालिन की आंखों से आंसू छलक आएं.

दरअसल करुणानिधि की समाधि के डीएमके ने मरीना बीच पर जगह मांगी थी, लेकिन राज्‍य सरकार ने इससे इनकार कर दिया, जिसके बाद पार्टी ने मद्रास हाईकोर्ट में अपील की. उनकी याचिका पर हाईकोर्ट में सुबह आठ बजे से ही सुनवाई जारी है, जहां दोनों पक्ष अपनी-अपनी दलीलें रख रहे हैं. सरकारी वकील ने जहां प्रोटोकॉल और इतिहास का हवाला  दिया, वहीं डीएमके के वकीलों ने इसे लोगों की भावनाओं के जोड़कर पेश किया.

बता दें कि 94 वर्षीय करुणानिधि का मंगलवार शाम को निधन हो गया था. उनका पार्थिव शरीर राजाजी हॉल में रखा गया. देश भर के तमाम बड़े नेता और डीएमके समर्थक करुणानिधि के अंतिम दर्शन के लिए वहां जुटने लगे हैं. राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित तमाम नेताओं ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है. वहीं तमिलनाडु सरकार ने उनके निधन पर सात दिन, जबकि कर्नाटक सरकार ने एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है.


अधिक देश की खबरें